अधिकारियों के खिलाफ सीएम हाउस पर झूठी शिकायतें करना ठीक नहीं- सुरेश मीणा

एसएचओ एवं सब इंस्पेक्टर लाइन हाजिर मामला

अधिकारियों के खिलाफ सीएम हाउस पर झूठी शिकायतें करना ठीक नहीं- सुरेश मीणा

रींगस थाना प्रभारी बद्री प्रसाद मीणा व सब इंस्पेक्टर हेमराज मीणा को फिर से थानो में लगाए जाने की मांग को लेकर डीएसपी को डीजीपी आईजी और मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

रींगस (सीकर, राजस्थान/ सुमेरसिंह राव) रिंगसशहर के थाना प्रभारी रहे बद्री प्रसाद एवं उप निरीक्षक हेमराज मीणा को थाने से हटाकर लाइन हाजिर करने के विरोध में शुक्रवार को सर्व समाज के लोगों ने आदिवासी मीणा सेवा संघ के प्रदेश पदाधिकारी एवं श्री मीन सेना के प्रमुख सुरेश मीणा किशोरपुरा एवं भारतीय किसान कार्यकारी यूनियन जिलाध्यक्ष सुरेश मील के नेतृत्व में डीएसपी बनवारीलाल धायल को डीजीपी एमएललाठर, आईजी डॉ हवा सिंह घुमरिया एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर आदिवासी नेता सुरेश मीणा किशोरपुरा ने कहा कि बद्री प्रसाद मीणा के रींगस थाने के 7 माह के कार्यकाल में सीकर पुलिस अधीक्षक के पास शुन्य के बराबर शिकायत नहीं है। इनकी शानदार कार्यशैली से आमजन कायल है। इसी प्रकार सब इंस्पेक्टर हेमराज मीणा भी काबिल अधिकारी हैं। जिन्होंने गत दिनों ही प्रदेश में बेस्ट अधिकारी के रूप में डीजीपी द्वारा अवार्ड दिया गया है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने इन्हें हटाने के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय पर दबाव बनाया है। उनका कहना था कि जयपुर रेंज आईजी डॉ हवा सिंह घुमरिया प्रदेश के होनेस्ट अधिकारी है। वह कभी किसी के साथ गलत नहीं करते पर वह दोषी को छोड़ते नहीं है और निर्दोष को फंसाने नहीं देते। पर किसी व्यक्ति ने उन तक गलत तरीके से रिपोर्ट पेश की है हालांकि पुलिस की नौकरी में सस्पेंड लाइन हाजिर एक प्रक्रिया है। कांग्रेस नेता सुरेश मीणा किशोरपुरा ने कहा कि 7 दिवस के अंदर दोनों पुलिस अधिकारियों को लाइन से थानों में नहीं लगाया गया तो आंदोलन तेज किया जाएगा। आक्रोशित लोगों ने तख्तियां हाथ में लेकर कोरोना गाइड लाइन की पालना के साथ मूल रूप से विरोध जताया