इब्तिदा संस्था के सहयोग से खेड़ामहमुद में ग्रामीणों ने मनाया विश्व मानवाधिकार दिवस

इब्तिदा संस्था के सहयोग से खेड़ामहमुद में ग्रामीणों ने मनाया विश्व मानवाधिकार दिवस

गोविन्दगढ़ (अलवर)  खेडामहमूद ग्राम पंचायत मे शुक्रवार को इब्तिदा संस्था के सहयोग से ग्रामीणों ने मनाया विश्व मानवाधिकार दिवस। इस अवसर पर इब्तिदा संस्था से क्षैत्रीय समंवयक लक्ष्मीनारायण राठी ने ग्रामीणों को विशव मानवाधिकार दिवस के महत्व के बारें में बताते हुए कहा कि विष्व में रहने वाले हर मानव को कुछ विषेष अधिकार प्राप्त हो, जो समुची दुनिया को एक सुत्र में बांधते हो, मानव अधिकारों की रक्षा करतें हो, किसी मनुष्य के साथ किसी कीमत पर किसी तरह का भेदभाव नही हो यह मानव अधिकार है। विष्व के लोगों के बीच नस्ल, रंग, लिंग, भाषा, धर्म, या अन्य विचार, संपति, राजनीतिक आदि बातों के आधार पर कोई भेदभाव नही होना चाहिए। इसलिए मानवाधिकार का निर्माण किया गया है। भारत में आज भी ज्यादातर लोगों को मानव अधिकार के बारें में जानकारी ही नही है। पिछडें गांवों में मानवाधिकार का हनन होना आम बात है। इस दिवस को मनानें का यही उद्देष्य है सभी को समानता का अधिकार मिले।

मानव अधिकार दिवस 2021 की थीम है ”असमानताओं को कम करना, मानवाधिकारों को आगे बढाना।” जिसको संयुक्त राष्ट्र द्वारा तय की जाती है।

कार्यक्रम में महिलाओ ने अपने अधिकारो के प्रति जागरुक रहने व अधिकारो का हनन होने पर आवाज उठाने की शपथ ली। इस अवसर पर इब्तिदा सस्था से मन्नालाल,मनमोहन आंगनबाडी कार्यकर्ता व महिलाए उपस्थित रही