जल और जीवन की कल्पना वृक्षारोपण के माध्यम से ही सम्भव: इंस्पेक्टर रेनू सिंह

जल और जीवन की कल्पना वृक्षारोपण के माध्यम से ही सम्भव: इंस्पेक्टर रेनू सिंह

बदायूँ (उत्तरप्रदेश/ शशि जायसवाल/ अभिषेक वर्मा) प्रदेश के बदायूँ जनपद में मंगलवार को पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से महिला थानाध्यक्ष रेनू सिंह ने महिला थाना परिसर में वृक्षारोपण किया। इस दौरान उन्होंने लगभग पचास पौधो को लगाया। बताते चले कि पर्यावरण संरक्षण में वृक्षों की महत्ता को देखते हुए महिला थानाध्यक्ष  रेनू सिंह ने स्वयं पौधा लगाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। साथ ही प्रतिदिन की भांति प्रातः काल सुबह जल्दी उठकर थाना परिसर में लगें पौधों को पानी दिया। इस अवसर उन्होंने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग विश्व की समस्या बन गयी है। इसका समाधान वृक्षों में ही छिपा है। भारत की खुशहाली भी हरियाली में ही है। भारत की समृद्ध और खुशहाल जीवन हेतु वृक्षारोपण के लिए सबों को आगे आना होगा, हमें अधिक से अधिक वृक्षारोपण करना चाहिए जिससे कि हमारा वातावरण स्वच्छ रहे हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी व मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने वृक्षारोपण का कार्यक्रम की शुरुआत की थी उन्हीं के सिखाएं हुए रास्ते पर पर आज पूरे देश प्रदेश चल रहा है। थानाध्यक्ष के साथ पूरे स्टाफ ने मिलकर थाने परिसर में वृक्षारोपण किया साथ ही थानाध्यक्ष ने पौधों के बारे महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए कहा कि पौधे लगाने के साथ ही उसे संरक्षण भी देना चाहिए और उसके पालन पोषण का ध्यान रखते हुए उसे बडे़ वृक्ष का रूप प्रदान करने का काम करना चाहिए। पौधे हमे ऑक्सीजन देते हैं पौधों की देख रेख करना हमारा अहम उद्देश्य होना चाहिए। हर व्यक्ति को कम से कम एक पौधा अवश्य लगाना चाहिए जिससे आने वाली पीढ़ी को ऑक्सीजन की कमी न रहे। पर्यावरण संरक्षण हमारा धर्म है। आज बारिश के लिए लोग लालायित हैं। अगर वृक्षारोपण के प्रति लोग जागरूक हो जाएं तो शुद्ध ऑक्सीजन के साथ-साथ जल की किल्लत से लोगों को छुटकारा हो सकता है। साथ ही उन्होंने सभी कर्मियों से थाने परिसर में वृक्षारोपण कराकर यह संदेश देने का प्रयास किया कि जल और जीवन की कल्पना वृक्षारोपण के माध्यम से ही सम्भव है।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है