भारतीय सेना भर्ती की तैयारियों में जुटे युवाओं में आक्रोश: सौंपा ज्ञापन

भारतीय सेना भर्ती की तैयारियों में जुटे युवाओं में आक्रोश: सौंपा ज्ञापन

राजसमंद (राजस्थान/ पप्पूलाल कीर)  अग्निवीर योजना के विरोध में पहुंचे  कलेक्टर ऑफिस में पहले सेना भर्ती परीक्षा करवाने की मांग को लेकर राष्ट्रपति प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन। ज्ञापन में बताया गया है कि देश में पिछले 2 सालों में रक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा निकाली गई सेना भर्तीयां अभी तक पुरी नहीं हो पाई हैं। दो वर्षो से लगातार सेना भर्ती में चयन होने के लिए हमने कठिन परिश्रम, दिन-रात पढ़ाई कोचिंग में लाखों रूपये खर्च किये हैं। हमारे द्वारा सेना भर्ती में फिजिकल मेडिकल आदि सभी सेना भर्ती चयन के स्तरों को पार कर लिया गया हैं। 12 माह से अधिक समय से हम मात्र परीक्षा होने का इंतजार कर रहे हैं। रक्षा मंत्रालय द्वारा कई बार परीक्षा तिथि घोषणा करने के बाद तिथियां वापिस ले ली गई। हमारे माता-पिता रिश्तेदार दोस्तों एवं समाज द्वारा हमें सैनिक- फौजी का दर्जा दिया जा चुका हैं। वर्तमान में भारत सरकार द्वारा पूर्व में लंबित सेना भर्तीयों के अंतिम चयन स्तर के समय नई सेना भर्ती नियमों को लागू करना तथा पुरानी लंबित भर्तीयों को पूर्णतया कैंसिल करना भर्ती प्रक्रिया में इस नए बदलाव करने से हम सभी युवाओं में केन्द्र सरकार एवं इस नई अग्निपथ अग्निवीर योजना के खिलाफ रोष हैं। केन्द्र सरकार पहले पूर्व में पेडिंग सभी सेना भर्तीयों को पूरा करें। उसके बाद अग्निवीर को लागु करें। पूर्व की पेडिंग भर्तीयों को कैंसिल कर दूसरी नई भर्ती प्रक्रिया अग्निवीर लागू करना भूखे व्यक्ति के मुंह से रोटी का निवाला छिनने जैसा अशोभनीय व्यवहार केन्द्र सरकार द्वारा देश के करोड़ों युवाओं के साथ किया गया हैं। इण्डियन आर्मी एवं देश की रक्षा करने का सपना संजोने वाले देश के लाखों करोड़ो युवाओं के साथ धोखा किया गया हैं। समाज में हमारा मजाक बना कर रख दिया गया हैं। जिससे हम सभी मानसिक रूप से तनावग्रस्त हैं । माननीय प्रधानमंत्री जी भारतीय सेना प्रमुख एवं भारत सरकार से हम सभी युवाओं का आग्रह हैं कि पूर्व में लंबित सभी सेना भर्तीयों को पहले पूर्ण करें। उसके बाद नए भर्ती नियम लागू करें। इस दौरान हरिओम कुमावत, दिनेशचंद्र जाट, कैलाशचंद्र कुमावत, रतन लाल कुमावत, लोकेश , पारस ,ईश्वर ,धर्मुबलवंत सिंह, कुणाल सिंह, विपुल सिंह, प्रवीण सिंह,नरेश जाट, सुनील जाट, आदि अनेक उपस्थित थे।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है