डूबते को तिनके का सहारा, दलेलपुरा के इन्सानियत ग्रुप द्वारा बबाई के बालूराम के परिवार को दी आर्थिक मदद

बाबई के वार्ड नंबर 14 निवासी बालूराम कुमावत के परिवार की आर्थिक मदद करने के लिए इन्सानियत ग्रुप दलेलपुरा आगे आए

डूबते को तिनके का सहारा, दलेलपुरा के इन्सानियत ग्रुप द्वारा बबाई के बालूराम के परिवार को दी आर्थिक मदद

खेतड़ी (झुंझुनूं, राजस्थान/ सुमेरसिंह राव) तहसील के बबाई निवासी 80 वर्षीय बालूराम व 75 वर्षीय पत्नी सकरी देवी के तीन बेटे थे।  छोटे बेटे दिनेश की 10 साल पहले रेल हादसे में मृत्यु होगई थी।  इसके बाद बड़े बेटे तुलसीराम व मनीष कमाने के लिए विदेश में कुवैत चले गए, लेकिन डेढ़ वर्ष पहले वहां पर काम करते हुए तुलसीराम तीसरी मंजिल से नीचे गिर गया तब से वह कोमा में है।  छोटे बेटे मनीष ने भाई तुलसीराम का इलाज करवाया लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ तो उसे वह विदेश से लेकर देश में आया ।  यहां पर भी इलाज करवाया लेकिन तुलसीराम को कोई खास फायदा नहीं हुआ।  मनीष जैसे ही कमाने के लिए वापस कुवैत गया तो आस-पड़ोस के कुछ लोगों ने कहा कि हमारी भी कुछ दवाई लेकर आना । मनीष दवाई लेकर जाते समय इसमें नींद की दवाई जो विदेश में प्रतिबंधित है उस के साथ वह कुवैत के एयरपोर्ट पकड़ा गया तब से  वह जेल में है । इस परिवार पर दुखों का ऐसा पहाड़ टूटा की तुलसीराम का पूरा परिवार घोर संकट से घिर गया जहाँ से परिवार पालने का कोई सहारा नही रह । एक तो तुलशिराम की दवाई का खर्चा ऊपर से  परिवार में कोई कमाने वाला नही रहा, ऐसे में 80 वर्षीय बालूराम के परिवार के 12 सदस्यों की रोजी रोटी के संकट से जूझ रहे है। इनकी पीड़ा को मीडिया के माध्यम से उठाया गया तो कई लोग व समाजसेवी संस्थायें आगे आई। आज डूबते को तिनके का सहारा बनी इन्सानित ग्रुप । दलेलपुरा के कैप्टन राम निवास ताखर द्वारा स्थापित संस्था इन्सानियत ग्रुप जिसने आज अपनी स्थापना का एक वर्ष पूर्ण कर लिया है जिसमे   दलेलपुरा के अलावा आज पड़ोस के गांवों के लोग भी शामिल है उनके द्वारा 5100 /- रुपये की आर्थिक सहायता तथा छोटे छोटे बच्चों को सर्दी से बचाने के लिए दो डबल बेड के कम्बल व बालूराम को एक साल प्रदान किया जिससे इस परिवार को कुछ संबल मिल सके तथा सर्दी से बचा जा सके तथा समाज मे एक सकारात्मक संदेश जाए।  बबाई के सुरेश कुमावत व दैनिक भास्कर के संपादक रतन शर्मा ने कहा कि इन्सानियत ग्रुप द्वारा यह अनुकरणीय पहल है इस से इस परिवार को कुछ आस बंधी है तथा इस से प्रेरणा लेकर और भी लोग इनकी मदद के लिए आगे आएंगे । बालू राम ने अपने परिवार की इस मदद के लिए इन्सानियत ग्रुप का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर इन्सानियत ग्रुप के संस्थापक कैप्टन राम निवास ताखर,  घनश्याम सोनी दलेलपुरा, जितेंद्र डूडी  सेफरागुवार व ईश्वर यादव यादव मौजूद रहे ।