इस साल रहेगी शुभ विवाह की धूम, मुहूर्त की भरमार बजेंगी शहनाईयां, कोरोना के चलते कई लोग टाल रहे शादियां

इस साल रहेगी शुभ विवाह की धूम, मुहूर्त की भरमार बजेंगी शहनाईयां, कोरोना के चलते कई लोग टाल रहे शादियां
इस साल रहेगी शुभ विवाह की धूम, मुहूर्त की भरमार बजेंगी शहनाईयां, कोरोना के चलते कई लोग टाल रहे शादियां

दो सालों से कोरोना के कारण लोगो को शादियों के मुहूर्त की मार मारी थी वही पंचांगों के अनुसार नए साल में रात के लग्न मुहूर्ती से ज्यादा दिन के लग्न मुहूर्त ज्यादा हैं। रात के लग्न करीब कम है. जबकि विवाह के लिए दिन के मुहूर्त 42
बताए गए हैं। इसके साथ ही सायंकाल गोधूलि बेला में भी शादियों के 24 शुभ मुहूर्त रहेंगे। बता दें कि कोरोना से पहले तक शादी विवाह में रात्रि लग्न में ही पाणिग्रहण संस्कार और फेरे होते आए हैं। दिन के विवाह लग्न लोग नजर अंदाज कर देते थे, लेकिन इन दो साल में कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन में दिन में भी शादियां संपन्न हुईं। यही वजह है कि अब लोग दिन के भी लग्न मुहूर्त में विवाह करने लगे हैं। कोरोना के चलते लोगों की सोच बदल रही है साल 2022 के लिए लोग दिन के भी विवाह मुहूर्त निकलवा रहे हैं। दो साल से कोरोना संक्रमण के चलते लोगों की सोच बदली है। पंडित. अशोक शर्मा के अनुसार अब लोग चकाचौंध से दूर होकर दिन के लग्न भी लेने लगे हैं। इस बार पंचांग में भी दिल खोल कर खूब विवाह के दिन के मुहूर्त लगाए
कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को देखते हुए शादी के लिए मैरिज गार्डन अभी बुक करने को लेकर कतरा रहे हैं। ज्योतिषाचार्य पंडित अशोक शर्माने बताया कि इस साल का आखिरी विवाह मुहूर्त 13 दिसंबर को था। इसके बाद 16 दिसंबर से खरमास शुरू हो जाएगा। अब विवाह की शहनाइयां नए साल 2022 में 15 जनवरी से बजना शुरू होंगी आने वाले साल में विवाह मुहूर्त का टोटा नहीं रहेगा। यद्यपि साल में केवल 8 माह ही विवाह होंगे, परंतु इस अवधि में 87 दिन मुहूर्त रहेंगे। बीत रहे वर्ष में सिर्फ 62 दिन ही मुहूर्त थे। इसमें भी कोरोना के चलते विवाह कम हुए थे। दूसरी ओर इन मुहूर्त में सर्वाधिक विवाह 3 मई को अक्षय तृतीया पर होंगे। वहीं खरीदारी के लिए 14 दिसंबर को मोक्षदा एकादशी का दिन शुभ रहेगा इस वर्ष का अंतिम पुष्य नक्षत्र योग 21 और 22 दिसंबर को जबकि नए साल के पहले 18 जनवरी को भौम पुष्य योग रहेगा। इन योगों में खरीदी मंगलकारी होना मानी जाती है। आगामी सीजन में अच्छे व्यापार की उम्मीद व्यापारियों को इस बार के बाद अगले सीजन में भी शादियों के दौरान अच्छे व्यापार की उम्मीद है जानकारों के अनुसार लग्नसरा की ग्राहकी के कारण बाजार में बूम होने की उम्मीद है सराफा के साथ किराना कपड़ा सहित अन्य सेक्टर में भी अच्छा व्यापार होने के आसार दिख रहे हैं।

नए साल में किस माह में कितने आएंगे विवाह मुहूर्त
  • जनवरी:- साल की शुरुआत में ही 22, 23, 24, 27, 29 और फिर 30 तारीख को शादी करना बेहद शुभ रहेगा।
  • फरवरी:- 4, 5, 6, 7, 9,10, 18, 19, 20 तारीख का सावा रहेगा।
  • मार्च:- मार्च में सिर्फ 2 लग्न मुहूर्त हैं दोनों ही अबूझ रहेंगे। 4 को फुलेरा दूज का व 25 को शीतलाष्टमी का मुहूर्त रहेगा।
  • अप्रैल: 15, 16, 17, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 27 तारीख को सावा रहेगा।
  • मई:- 2, 3, 9, 10, 11, 12, 15, 17, 18, 19, 20,21, 26, 27 31 को शुभ मुहूर्त हैं।
  • जून- 1, 5, 6, 7, 8, 10, 11, 12, 13, 14, 17, 20, 21, 23 और 24 तारीख का दिन जून में खास होने वाला है। जुलाई:- 3,4,6,7,8 और 9 तारीख को शादी का मुहूर्त रहेगा। इसके बाद देव सो जाएंगे।
  • नवंबर:- सर्दियों की शुरुआत में यानी कि देवउठनी एकादशी के बाद नंवबर में 25, 26, 28 और 29 तारीख को शादी के शुभ मुहूर्त हैं।
  • दिसंबर:- साल के अंतिम महीने में 1, 2, 4, 7, 8, 9 और 14 तारीख को लग्न मुहूर्त रहेंगे।

पंडित अशोक शर्मा के मुताबिक अगस्त, सितंबर व अक्टूबर में सावे नहीं साल • 2022 में तीन महीने अगस्त, सितंबर और अक्टूबर में चातुर्मास के कारण शादियों के कोई शुभ मुहूर्त नहीं होंगे। इन महीनों को छोड़ दें तो फिर 2022 में लगभग पूरे साल शादियों के जमकर शुभ मुहूर्त है। 

दूसरी ओर कोरोना का डर

पंडित अशोक शर्मा ने बताया कि लगातार 2 सालों से कोरोना का कारण अधिकांश शादियों टाली जा रही है मगर इस बार भी कोरोना के बढ़ते मरीज को देखते हुए लोग सीमित दायरे में शादी करने की सोच रहे हैं वही कोरोना के चलते आगर लॉकडउन की स्थिति बनती है तो शादियों और व्यापार को बाजार पर भी इसका खासा प्रभाव पड़ेगा जिससे इस साल भी कोरोना से लोगों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ेगा वही बैंड बाजा टेंट डीजे आदि लोगों को रोजगार नहीं मिलेगा वह यह साल भी इनके लिए घाटे का होगा।