फर्जी नरेगा जॉबकार्ड बनाकर किया लाखों का घपला शिकायत होने पर करा दिए डिलीट

फर्जी नरेगा जॉबकार्ड बनाकर किया लाखों का घपला शिकायत होने पर करा दिए डिलीट

बाड़मेर (राजस्थान/ पवन चौहान) बाड़मेर के ईटादा ग्राम पंचायत में नरेगा योजना के अंतर्गत एक फर्जीवाड़ा सामने आया है जिसमें पंचायत के ग्राम सेवक व सरपंच सहित लिपिक ने मिलकर 5 वर्ष पूर्व सन 2015 में लगभग 300 से अधिक फर्जी जॉब कार्ड बनाकर सभी को 900 दिन का रोजगार दिला कर लाखों रुपए उठाएं
बताया जा रहा है कि जॉब कार्ड ऐसे लोगों के नाम जारी हुए हैं जिन्हें अभी तक यह भी नहीं पता कि उनका जॉब कार्ड भी बना हुआ है सभी गरीब व अनपढ़ लोग हैं जिनके बैंक खाता नंबर के स्थान पर सरपंच प्रतिनिधियों ने अपने रिश्तेदारों व परिचितों के नंबर डालकर आने वाली राशि उनके खाते में जमा करा कर लाखों रुपए का घोटाला किया
इतना ही नहीं एक ही लाभार्थी के नाम से 22 जॉब कार्ड बना दिए और एक में अपने चहेतों के नंबर जोड़ कर फर्जी जॉब कार्ड को भी योजना में चला डाला लेकिन जब फर्जी जॉब कार्ड की शिकायत हुई तो आनन-फानन में जॉब कार्ड डिलीट भी करा दिया गए एक ही परिवार के सदस्यों का नाम गांव के दूसरे व्यक्ति के जॉब कार्ड में भी दिखाई दिए

फर्जी जॉब कार्ड मामले में रज्ज़ाक खान ने बताया कि नरेगा योजना के लिए उसका जॉब कार्ड बना हुआ है जिसकी उसे आज तक जानकारी ही नहीं जब उसे पता लगा कि उसका जो कार्ड बना हुआ है और उसने जानकारी प्राप्त किए तो उसमें किसी दूसरे व्यक्ति के  अकाउंट नंबर दर्ज मिले जिन्हें मैं जानता भी नहीं जब मैंने शिकायत की तो जॉब कार्ड को सरपंच व ग्रामसेवक ने अपने स्तर पर ही डिलीट करवा दिया

वह दूसरे शिकायतकर्ता  हमीद पुत्र मोहम्मद ने बताया कि उन्हें यह पता भी नहीं था कि उनका जॉब कार्ड बन गया है जब उन्हें मालूम हुआ कि उनका जॉब कार्ड 1329 क्रमांक नंबर पर बनाया गया है और उसमें 100 दिन का रोजगार भी दर्शा कर पैसे उठा लिए गए हैं जिसमें किसी दूसरे व्यक्ति के नंबर दर्ज थे और बार-बार शिकायत करने पर जॉब कार्ड को फेंक बता कर डिलीट करवा दिया गया लेकिन अभी तक फर्जीवाड़ा करने वालों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई है

हिजात पुत्र रसूल ने बताया कि उसके नाम से ग्राम सेवक व सरपंच ने मिलकर फर्जी जॉब कार्ड बनाया इतना ही नहीं फर्जी जॉब कार्ड संख्या 1319 से उसका नाम चलाकर 100 दिन का रोजगार भी पूरा दिखा दिया गया जब उसे जानकारी प्राप्त हुई और उसने ऑनलाइन डिटेल निकलवाई तो उसमें किसी दूसरे व्यक्ति के नंबर फीड मिले जिसकी शिकायत करने पर भी आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है

BDO गोपाराम का कहना है कि उनके पास है जॉब कार्ड को लेकर चल रहे फर्जीवाड़े की एक भी शिकायत अभी तक नहीं आई है यदि ऐसी कोई जानकारी प्राप्त होती है तो नियमानुसार उचित कार्यवाही की जाएगी साथ में उन्होंने बताया कि पूर्व में टांको की शिकायत की सूचना उन्हें मिली इसकी जानकारी करवाई गई जिसमें जांच के दौरान सभी टांके सही मिले थे