नही दिखा वीकेंड लॉकडाउन का असर: दिनभर शराब की दुकानें बेखौफ रही खुली, आंखे बंद कर बैठे रहे जिम्मेदार

नही दिखा वीकेंड लॉकडाउन का असर: दिनभर शराब की दुकानें बेखौफ रही खुली, आंखे बंद कर बैठे रहे जिम्मेदार
नही दिखा वीकेंड लॉकडाउन का असर: दिनभर शराब की दुकानें बेखौफ रही खुली, आंखे बंद कर बैठे रहे जिम्मेदार

दांतारामगढ (सीकर/ राजस्थान) कोराना महामारी की तीसरी लहर में ऑमिक्रोन की चैन तोड़ने के लिए राज्य सरकार ने प्रदेश में रविवार को लॉकडाउन लगाया था। लेकिन खाचरियावास, पचार सहित आस-पास गांव में संडे लॉकडाउन धज्जियां उड़ती तस्वीरें सामने आई। आपकों बतां दे हमारें संवाददता ने दिनभर दांतारामगढ़ सहित आस-पास के गांवों का दौरा किया जिसमें खाचरियावास व पचार में शराब की दुकानें बेखौफ खुली नजर आई। जिम्मेदार थाना प्रभारी दांतारामगढ़, खाचरियावास पुलिस चौकी प्रशासन पूरें दिन आंख मूंद बैठे रहे और शराब की ब्रिकी दिनभर चालू रही। इसके अलावा मुख्य बाजार में ग्रामीण व दुकानदार मास्क में दिखें पर कई दुकानदार चोरी-छूपें सम्मान बेंचते नजर आएं। स्थानीय जागरूक ग्रमीणों से बात कि तो पता चला कि गाँवों में ना तो यहां कोई प्रशासनिक अधिकारी देखने आएं है और नां ही कोई पुलिस। 
चौकानें वाली बात यह है कि पूरी कवरेज के दौरान गांव में ना तो कोई पुलिस का जवान दिखाई दिया और ना ही कोई प्रशासनिक अधिकारी। ऐसे में जिला प्रशासन व राज्य सरकार कितने भी कोरोना बचाव, कोरोना की चैन तोड़ने के दावें क्यों ना कर ले पर हकिकत यह है कि समय रहते ग्रामीण क्षे़त्रों में लोगों का जागरूक नहीं किया गया और पाबंदिया नहीं लगाई तो कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बहुत ही विकराल रूप में नजर आएगा, जिस पर काबू पाना बहुत ही मुश्किल होगा।
  

 

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है