कोरोना संक्रमित महिला की मौत के बाद शव को नहीं मिला कंधा, एसडीएम और डीएसपी ने कंधा देकर मानवता का दिया परिचय

कंधा देने की बात को लेकर ग्रामीणों व पड़ोसियों ने मोड़ा मुँह, फिर DSP और SDM आए आगे शव को कंधा देकर पहुँचाया शमशान

कोरोना संक्रमित महिला की मौत के बाद शव को नहीं मिला कंधा, एसडीएम और डीएसपी ने कंधा देकर मानवता का दिया परिचय

कांगड़ा (हिमाचल प्रदेश/ शशि जायसवाल) लगातार खेल रहे कोरोनावायरस के संक्रमण के चलते प्रदेश में मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है देश में न जाने कितने ही परिवारों ने अपने परिजनों को खोया है ऐसे में कई जगह मानवता को शर्मसार कर देने वाली बात भी सामने आई है लेकिन हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में नकारात्मकता को छोड़ कोरोनावायरस ने असली हीरो होने का परिचय दिया हम आपको बता दें की ज्वालामुखी उपमंडल में कोरोना संक्रमित महिला की मौत होने के बाद जहां ग्रामीणों ने महिला के शव को कंधा देने से मुख मोड़ लिया
कोई भी महिला के अंतिम संस्कार के लिए आगे नहीं आ रहा था एक तरफ महिला का पूरा परिवार संक्रमित होने की वजह से अंतिम संस्कार करने में असमर्थ था जिसकी सूचना मिलते ही डीएसपी धनबीर ठाकुर और डीएसपी तिलक राज ने स्वयं मौके पर जाकर मोर्चा संभाला और मृतक महिला के शव को घर जाकर अंतिम संस्कार के लिए ले जाने की व्यवस्था की महिला के घर को पूर्ण रूप से सैनिटाइज किया गया
फिल्मों में हमने काफी बार असली हीरो को देखा लेकिन जहां भी असली हीरो दिखाई दिए इनका कहना है कि समाज आपसी सहयोग इस संकट की घड़ी में बना कर रखें पूरी सावधानी बरतें और अपनी हिम्मत ना हारे एक दूसरे का सहयोग और उत्साह बढ़ाने के लिए हमेशा आगे आते रहे आपस में निराश और निरुत्साहितहोने की आवश्यकता नहीं है प्रशासन सदैव आपके साथ खड़ा है