पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने को लेकर भाजपा ने आप सरकार के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई ने राष्ट्रीय राजधानी में डीजल और पेट्रोल की कीमतों पर मूल्य वर्धित कर (वैट) कम नहीं करने को लेकर शनिवार को आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। भाजपा के नेताओं ने आरोप लगाया कि आप सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट में कटौती नहीं की, जिसके...

पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने को लेकर भाजपा ने आप सरकार के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई ने राष्ट्रीय राजधानी में डीजल और पेट्रोल की कीमतों पर मूल्य वर्धित कर (वैट) कम नहीं करने को लेकर शनिवार को आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। भाजपा के नेताओं ने आरोप लगाया कि आप सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट में कटौती नहीं की, जिसके चलते दिल्ली में ईंधन महंगा हो गया। यह प्रदर्शन प्रधानमंत्री के उस बयान के बाद किया गया है, जिसमें उन्होंने विपक्षी पार्टियों द्वारा शासित राज्यों में ईंधन की उच्च कीमतों पर चिंता जताई थी। उन्होंने उन राज्यों की सरकारों से राष्ट्र हित में वैट कम करने की अपील की थी, ताकि आम जनता को इसका फायदा मिले। विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता और विधानसभा में विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी ने किया।

विरोध प्रदर्शन के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए गुप्ता ने कहा कि वैट की ऊंची दरों के कारण दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि से आम आदमी की दुर्दशा के प्रति अरविंद केजरीवाल सरकार असंवेदनशील है। उन्होंने कहा कि पहले एक समय था, जब लोग दिल्ली में अपने वाहन के ईंधन टैंक भरवाते थे क्योंकि यहां पेट्रोल और डीजल अन्य एनसीआर शहरों की तुलना में सस्ता था, लेकिन अब स्थिति बदल गयी है। गुप्ता ने कहा, गोवा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश आदि जैसे कई-भाजपा शासित राज्यों ने नागरिकों को राहत देने के लिए डीजल और पेट्रोल पर वैट दरों में कमी की है, लेकिन अरविंद केजरीवाल ने यहां दरों में कटौती नहीं की है। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल सरकार शराब पर छूट दे सकती है, लेकिन जनता को राहत देने के लिए पेट्रोल और डीजल पर वैट की दरों को कम नहीं कर सकती है। यहां बाहरी मुद्रिका मार्ग पर चांदगी राम अखाड़े के पास विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिल्ली सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कहा वे इसके खिलाफ लड़ते रहेंगे।