दुष्कर्म मामले में राजीनामें के लिए 9000 रुपये की रिश्वत लेते ASI ट्रेप, इससे पहले भी ले चुका है 13800 रुपए की रिश्वत

दुष्कर्म मामले में राजीनामें के लिए 9000 रुपये की रिश्वत लेते ASI ट्रेप,  इससे पहले भी ले चुका है 13800 रुपए की रिश्वत

राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले में एसीबी टीम ने मंगलवार को 9 हजार रुपए की रिश्वत लेते एक ASI को गिरफ्तार किया है। आरोपी ASI ने दुष्कर्म के आरोप संबंधी एक मामले में राजीनामे के लिए रिश्वत मांगी थी। हिंदूमलकोट थाने के एएसआई ने कुछ महीने पहले ही इसी मामले में राजीनामे के लिए पीड़ित से 13,800 रुपए लिए थे। अब एक बार फिर से महिला द्वारा दुष्कर्म की शिकायत करने की बात कहते हुए राजीनामे के लिए 20 हजार रुपए की मांग की। बाद में 10 हजार रुपए लेने पर सहमत हो गया। सत्यापन के वक्त आरोपी ने 1 हजार रुपए लिए थे और बाकी 9 हजार रुपए आज देने का तय हुआ था।

हनुमानगढ़ एसीबी को मिली शिकायत:- 

श्रीगंगानगर के गांव तीन सी बड़ी पक्की के गुरबचनसिंह के खिलाफ करीब 6-7 महीने पहले एक महिला ने दुष्कर्म की शिकायत की थी। इस मामले की जांच एएसआई प्रहलाद मीणा को सौंपी थी। इसके बाद मामले में राजीनामा हो गया था। परिवादी का आरोप है कि उस समय राजीनामे के लिए एएसआई ने 15 हजार रुपए रिश्वत मांग थी तब उसने 13,800 रुपए देकर मामला शांत करवाया था।

परिवादी ने बताया कि- करीब 10-12 दिन पहले मीणा ने फिर से गुरबचनसिंह को फोन किया और उसके खिलाफ उसी महिला के फिर से शिकायत करने की बात कहते हुए राजीनामे के लिए 20 हजार रुपए रिश्वत राशि मांगी। इस पर परिवादी ने एसीबी के हनुमानगढ़ ब्यूरो में शिकायत की। ब्यूरो ने सोमवार को शिकायत का सत्यापन करवाया तो आरोपी 10 हजार रुपए लेने पर सहमत हो गया और उस समय एक हजार रुपए लिए थे। बाकी 9 हजार मंगलवार को देना तय हुआ।

रिश्वत लेते ही कर लिया गिरफ्तार:-

परिवादी आज रिश्वत के बाकी 9 हजार रुपए देने के लिए पहुंचा था। इस दौरान एसीबी की टीम भी अलर्ट थी। जैसे ही पीड़ित ने आरोपी प्रहलाद मीणा को 9 हजार रुपए सौंपे। एसीबी की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। एसीबी ने उसके पास से रिश्वत राशि बरामद कर ली। ब्यूरो की टीम में शामिल जगदीश राय हंसराज विनय विशाल वरुण कुमार बजरंगलाल अमनकुमार संदीप कासनिया और ओमप्रकाश सोनी आदि ने उसके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी।

  • रिपोर्ट:- नीरज माहेश्वरी