जमीनी विवाद के चलते पेट्रोल डालकर पुजारी को ज़िंदा जलाया, आरोपी को किया 24 घंटे में गिरफ्तार

जमीनी विवाद के चलते पेट्रोल डालकर पुजारी को ज़िंदा जलाया,  आरोपी को किया 24 घंटे में गिरफ्तार

करौली,राजस्थान   
करौली जिले के सपोटरा ग्राम बुकना असमाजिक तत्वो द्वारा कथित जमीन विवाद को लेकर राधा कृष्ण मंदिर के पुजारी को जिंदा जलाने के बाद इलाज के दौरान पुजारी बाबूलाल वैष्णो का s.m.s. अस्पताल में निधन  हो गया है। पुजारी परिवार के साथ जो आधा दर्जन लोगों पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने की घटना घटित हुई है। इस अमानवीय घटना की सर्वत्र निंदा की जा रही है।  साथ ही इस मामले पर अब राजनीति शुरू हो गई है।

एसपी मृदुला कछवा के निर्देश पर पुलिस ने अलग-अलग टीम बनाकर आरोपियों की तलाश शुरू की और जल्द से जल्द उन्हें गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। वहीं पुलिस टीम ने 24 घंटे में मुख्य आरोपी कैलाश मीणा निवासी बूकना थाना सपोटरा को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश अभी भी जारी है। दी गई जानकारी के मुताबिक दोनों पक्षों में मंदिर जमीन को लेकर विवाद था। पुलिस के मुताबिक पुजारी बाबूलाल वैष्णव ने बताया कि मेरा परिवार 15 बीघा मंदिर की जमीन पर खेती करता था। इस पर आरोपी कैलाश, शंकर और नमो मीणा ने कब्जा कर लिया।

वसुंधरा राजे सिंधिया (पूर्व मुख्यमंत्री राजस्थान) ने कहा की मामले की जितनी निंदा की जाए, जितना दुःख जताया जाए, कम है।
प्रदेश में लगातार अपराधो का ग्राफ जिस गति से बढ़ रहा है, उससे एक बात तो स्पष्ट है कि यहां महिलाएं, बच्चे, बूढ़े, दलित, व्यापारी कोई भी सुरक्षित नहीं है। राज्य की कांग्रेस सरकार को अब अपनी गहरी नींद को त्यागते हुए दोषियों को सख्त सजा दिलाकर परिवार को तुरंत न्याय दिलाना चाहिए।

हालांकि सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस मामले की निंदा की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि सपोटरा, करौली में बाबूलाल वैष्णव जी की हत्या अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है,सभ्य समाज में ऐसे कृत्य का कोई स्थान नहीं है।प्रदेश सरकार इस दुखद समय में शोकाकुल परिजनों के साथ है। घटना के प्रमुख आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और कार्रवाई जारी है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

अतिरिक्त कमिश्नर राहुल प्रसाद ने कहा कि मृतक के घरवाले मुआवजे की मांग कर रहे हैं, हम सरकार को इससे संबंधित प्रस्ताव भेज देंगे। राहुल प्रसाद ने बताया कि परिजन जांच में देरी करने के लिए स्थानीय पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग कर रहे हैं। राहुल प्रसाद ने कहा कि अगर कार्रवाई में पुलिस कर्मचारी दोषी पाए जाते हैं तो 24 घंटे में ही उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। इसके अलावा मृतक के रिश्तेदार रमाकांत शर्मा का कहना है कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है लेकिन हम चाहते हैं कि उसके पूरे परिवार को गिरफ्तार किया जाए और पुलिस कर्मचारियों को निष्क्रियता के लिए निलंबित कर देना चाहिए।

आजाद मंच भारत सिविल सोसाइटी ऑफ इंडिया की राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट हंसा पांडे ने गहरा खेद व आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि उनके परिवार और समाज और जनता को सभी न्याय प्रणाली पर विश्वास  तभी होगा जब न्याय मिलेगा और हमें शांति तभी मिलेगी जब अपराधियों को कठोर दंड मिले। असामाजिक तत्वों पर ताकि अंकुश लग सके।  इस तरह के अपराधियों पर लगाम लगनी चाहिए ऐसे लोग कब तक करते रहेंगे ? अपराध जिससे लोग इस डर में जिएंगे और कब तक लोग जिन जलाएंगे ?  उन्होंने फास्ट ट्रैक अदालत में  कानूनी कार्रवाई और सीबीआई जांच होनी चाहिए ताकि सच्ची सबक सामने हो और पंडित परिवार को न्याय मिले । इसके साथ ही  हंसा ने साथ ही  यह भी कहा की हम खुद अपने अधिकार के लिए लड़ना चाहिये।  कब तक यूं ही मूकदर्शक बनकर तमाशा देखते रहेंगे कब तक उम्मीद करते रहेंगे कि कोई आगे हमें बचाने आए खुद ही अपने हक के लिए लड़ना होगा। 

राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट कुसुम शर्मा ने कहा समाज में इस तरह के असामाजिक तत्व इस तरह की घटना करते और इन पर कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की जाएगी तो इस तरह इन लोगों की किसी तरह की कोई डर नहीं रहेगा।  उन्होंने कहा मैं तो यही बोलूंगी कि जिस तरह एक पुजारीन को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया है उसे तरह जलाने वाले को सख्त सजा दी जाए इस तरह के व्यक्तियों को जीने का समाज में कोई अधिकार नहीं है।

इस प्रकार की अमानवीय घटना सभ्य  मानव समाज को शर्मसार करने वाली है हमारे देश का क़ानून किसी भी व्यक्ति को यह अधिकार नहीं देता की वो इस प्रकार की घटना को कारित कर क़ानून का मज़ाक बनाये।  विजय एडवोकेट अरविंद कौशिक एवं कमलेश शर्मा,  सर्व समाज सेवी श्रीमती दीपा जोशी ने इस घटना की त्वरित एवं निष्पक्ष उच्च स्तरीय जांच कि जाकर इसमें पर्दे के पीछे लिप्त अपराधियों के विरुद्ध उचित कार्रवाई की जाने की शासन प्रशासन से प्रबल मांग की है | इधर करौली इस अमानवीय कृत्य में सपोटरा पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी कैलाश पुत्र कालू मीणा निवासी बुकना थाना सपोटरा जिला करौली को घटना के 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया।

देशबंधु जोशी की रिपोर्ट