देश के नाम पीएम मोदी का संबोधन, जाने देश हित मे क्या हुआ ऐलान

बीते 100 वर्षों में आई ये सबसे बड़ी महामारी है, ऐसी महामारी आधुनिक विश्व ने न देखी थी और न अनुभव की थी, इतनी बड़ी वैश्विक महामारी से हमारा देश कई मोर्चों पर एक साथ लड़ा है- PM

देश के नाम पीएम मोदी का संबोधन, जाने देश हित मे क्या हुआ ऐलान

दिल्ली (राजधानी) देश मे कोरोना महामारी के संक्रमण और तीसरी लहर की रोकथाम को लेकर आज शाम 5 बजे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी के इस संबोधन पर हर किसी की नजरें टिकीं हुई हैं। पीएम मोदी ने संबोधन के दौरान कहा कि कोरोना की दूसरी वेव से लड़ाई जारी। दुनिया के कई देशों की तरह भारत भी बड़ी पीड़ा से गुजरा है। हममें से कई ने अपने परिचितों और परिजनों को खोया है। ऐसे लोगों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।
अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने गरीबों के लिए बड़ा ऐलान किया। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट के बीच गरीबों को पहले भी मुफ्त राशनम मिलता रहा है। सरकार ने अब फैसला किया है कि इस साल दिवाली तक यानी नवंबर महीने तक गरीबों को PM गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मुफ्त राशन मिलता रहेगा।
जरूरी दवाओं के प्रोडेक्शन को कई गुना बढ़ाया गया। दूसरे देशों से उन्हें लाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी गई। कोरोना जैसे अदृश्य दुश्मन के लिए सबसे प्रभावी हथियार एहतियात ही है। इस लड़ाई में वैक्सीन हमारे लिए सुरक्षा कवच की तरह हैं। आज दुनिया में जो वैक्सीन की मांग है उसकी तुलना में उत्पादन कम है। अगर भारत के पास अपनी वैक्सीन नहीं होती तो इतने बड़े देश में क्या होता। पहले हमें कई बीमारियों की वैक्सीन के लिए दूसरे देशों का इंतजार करना पड़ता था।
पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान बताया कि बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर चिंता है। बच्चों के लिए नेजल वैक्सीन का ट्रायल किया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि ट्रायल सफल रहा तो वैक्सीनेशन अभियान को तेजी मिलेगी।
पीएम मोदी ने कहा कि बीते 100 वर्षों में आई यह सबसे बड़ी त्रासदी है। ऐसी त्रासदी विश्व ने नहीं देखी थी। कई मोर्चों पर हमारे देश ने लड़ाई लड़ी है। बेड, अस्पताल और वेंटिलेंटर बनाने से लेकर टेस्टिंग लैब का नेटवर्क तैयार करने जैसे काम देश में किया गया है। बीते सवा साल में देश में एक नया हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया है। अप्रैल और मई में अकल्पनीय रूप से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ गई थी। ऐसा कभी नहीं हुआ था।

पीएम ने देश हित मे किया यह ऐलान
  • 21 जून, सोमवार से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी: 
  •  देश में बन रही वैक्सीन में से 25 प्रतिशत,  प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएं, ये व्यवस्था जारी रहेगी। प्राइवेट अस्पताल, वैक्सीन की निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा: 
  • आज सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा। महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है।यानि नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा: 
  • कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल और मई के महीने में भारत में मेडिकल ऑक्सीजन की डिमांड अकल्पनीय रूप से बढ़ गई थी, भारत के इतिहास में कभी भी इतनी मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत महसूस नहीं की गई- PM 
  • वैक्सीन हमारे लिए सुरक्षा कवच की तरह है, आज पूरे विश्व में वैक्सीन के लिए जो मांग है, उसकी तुलना में उत्पादन करने वाले देश और वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां बहुत कम हैं- 
  • अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर से देश की लड़ाई जारी है, दुनिया के कई देशों की तरह भारत भी बहुत बड़ी पीड़ा से गुजरा है। पीएम मोदी ने कहा कि कई लोगों ने अपने परिजनों को खोया है, ऐसे सभी परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।
  • कोरोना वैक्सीन को लेकर पैदा हो रही भ्रांतियों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोई भी किसी अफवाह में ना आए और बयानों पर ना जाए, हर कोई वैक्सीन लगवाए। समाज के प्रबुद्धजन आम लोगों से वैक्सीन लगाने की अपील करें।
  • कोरोना की दूसरी लहर से लड़ने में पूरी दुनिया से संसाधन जुटाए गए, कल्पना करिए कि अभी हमारे पास भारत में बनी वैक्सीन नहीं होती तो आज भारत जैसे विशाल देश में क्या होता?- PM
     
  • पोलियो की वैक्सीन हो, चेचक की वैक्सीन हो, हेपेटाइटिस बी की वैक्सीन हो, इनके लिए देशवासियों ने दशकों तक इंतजार किया था- PM
  • हमारे देश ने, वैज्ञानिकों ने ये दिखा दिया कि भारत बड़े-बड़े देशों से पीछे नही है, आज जब मैं आपसे बात कर रहा हूं तो देश में 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है- PM