1952 पालिका बोर्ड गठन के बाद पहली बार ढाणियों में हुआ स्ट्रीट लाइटों का उजियारा

1952 पालिका बोर्ड गठन के बाद पहली बार ढाणियों में हुआ स्ट्रीट लाइटों का उजियारा

उदयपुरवाटी (झुंझुनूं, राजस्थान/ सुमेरसिंह राव) 1952 में उदयपुरवाटी नगरपालिका बोर्ड गठन हुआ ।तथा आजादी के बाद पहली बार नगरपालिका के वार्ड नं 11 की ढाणी- मोलीहाला, ब्रामणो की ढाणी, सादाहाली में स्ट्रीट लाइटों का जाल बिछ गया है। पहाड़ियों के बीच बसी  ढाणिया नगर पालिका में होने के बाद आज तक बिजली, पानी, सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं से वंचित रही । 
 इन ढाणियों में जाने के लिए नवलगढ़ विधानसभा क्षेत्र के राजस्व ग्राम नोहरा होकर आगे पहाड़ियों के बीच जाना पड़ता है आवागमन सुगम नही होने के कारण से ये पालिका द्वारा प्रदत्त मूल सुविधाओं से वंचित रही। शुक्रवार को इन तीन ढाणियों में 35 पॉल,55 स्टेट लाईट ,ओर करीब 2.5 किमी वायर वाली केबल से जोड़कर पहली बार स्ट्रीट लाइट लगने से उजियारा किया गया।

पालिकाध्यक्ष रामनिवास सैनी एवं  पार्षद अजय तसीड ने किया फीडर का उद्घाटन

वार्ड नंबर 11 की तीन ढाणियों को जोड़ने वाले फीडर का उद्घाटन नगर पालिका अध्यक्ष रामनिवास सैनी,पार्षद अजय तसीड. ने किया। नगर पालिका अध्यक्ष सैनी ने कहा कि विकास कार्यों में धन की कमी नहीं रहेगी तथा जनता की बुनियादी सुविधाओं के लिए पक्ष विपक्ष के निष्पक्ष भाव से काम होंगे । वार्ड नंबर 11 की ढाणियों में पानी व लाइट की व्यवस्था हो गई है तथा ढाणी के लोगों के लिए उदयपुरवाटी आवागमन के लिए  सड़कों का निर्माण करवाया जाएगा। और जनता की बुनियादी आवश्यक कार्यों को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा। पार्षद तसीड. ने कहा कि चुनावों जो स्टेट लाईट लगाने का वादा किया था उसको 16 महीने में पूरा किया।
तसीड. ने पालिका अध्यक्ष रामनिवास सैनी से आगामी वित्त वर्ष के बजट में , इन ढाणियों के सार्वजनिक चौक पर 35×40 का सामुदायिक भवन,2 5 हजार पानी की क्षमता का टैंक, न्यू उदयपुरवाटी विद्यालय से काल्या पापड़ा होते हुए धोबी घाट तक बाई पास सड़क,करीब 2 करोड़ रुपए की लागत से बनवाने की मांग रखीः जिस पर पालिका अध्यक्ष सैनी ने कहा कि आगामी 6 माह में पूरी कर दी जाएगी। एडवोकेट मुनेश तसीड., छोटू राम सैनी, शंकर स्वामी, राकेश गुर्जर, प्रकाश सैनी, गोपाल सैनी, प्रमोद स्वामी, रणवीर स्वामी, कन्हैया लाल स्वामी, सीताराम सैनी, गट्टू सैनी, विनोद जेसीबी, सहित दर्जनों लोग कार्यक्रम में उपस्थित रहे। इस दौरान मौके पर मिठाई बांट कर खुशी का इजहार किया।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है