सयुंक्त किसान मोर्चा का किसानों को आह्वान: 26 नवंबर को गवर्नरों के घेराव का ऐलान: देश भर के गवर्नरों का किया जाएगा घेराव

,किसान संगठन अपने अपने प्रदेश के गवर्नरों का करेंगे घेराव,घेराव कर देश भर के राज्यपालों को दिया जाएगा मांग पत्र,केंद्रीय मांगो सहित राज्य की स्थानीय मांगें भी होंगी शामिल,

सयुंक्त किसान मोर्चा का किसानों को आह्वान: 26 नवंबर को गवर्नरों के घेराव का ऐलान: देश भर के गवर्नरों का किया जाएगा घेराव

गजसिंहपुर (श्रीगंगानगर, राजस्थान/ फतेह सागर) देशव्यापी किसान आंदोलन एक बार फिर सक्रिय होने लगा है, संयुक्त किसान मोर्चा ने 26 नवंबर को देशभर में अपने अपने प्रदेश के गवर्नरों के घेराव करने का ऐलान कर दिया है, आपको बता दे की केंद्र सरकार द्वारा  17 सितंबर 2020 को लागू किए गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में देशभर के किसानों ने दिल्ली की सीमाओं पर जाकर 375 दिन दिल्ली की घेराबंदी कर तीन कृषि बिलों को अध्यादेश के खिलाफ आंदोलन किया,वही 19 नवंबर 2021 प्रधानमंत्री ने कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की थी जिसके साथ ही दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसानों का आंदोलन खत्म हो गया था,14 नवंबर नई दिल्ली गुरुद्वारा श्री रकाब गंज साहिब में सयुंक्त किसान मोर्चा की राष्ट्रीय स्तर की बैठक हुई

जिसमें देश भर के संगठनों के प्रमुख नेताओं ने भाग लिया, किसान आंदोलन को खत्म हुए एक साल होने जा रहा है और केंद्र सरकार द्वारा मोर्चे से किए गए ज्यादातर वादे अब भी पूरे नहीं किए गए हैं, जिस पर आहत  संयुक्त किसान मोर्चा ने 26 नवंबर को देशभर के संगठनों को अपने अपने प्रदेश के गवर्नरों के घेराव करने का निर्णय लिया है,सयुंक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसान संगठन अपने अपने प्रदेश में किसानों की इस ऐतिहासिक जीत की पहली वर्षगांठ को लेकर देश भर के किसान फतेह मार्च निकाल कर खुशी जाहिर कर रहे है, जिस पर 11 दिसंबर को देश भर में किसान विजय दिवस मनाएंगे,साथ ही  26 नवंबर को गवर्नरों के घेराव को लेकर किसान संगठनो ने तैयारीयां शुरू कर दी है,बताते चले की किसान संगठन प्रदेश के गवर्नरों का  घेराव कर देश भर के राज्यपालों को  मांग पत्र दिया जाएगा,जिसमें केंद्रीय मांगो के साथ-साथ राज्य की स्थानीय मांगें भी शामिल रहेगी।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... मौजूदा समय में डिजिटल मीडिया की उपयोगिता लगातार बढ़ रही है। आलम तो यह है कि हर कोई डिजिटल मीडिया से जुड़ा रहना चाहता है। लोग देश में हो या फिर विदेश में डिजिटल मीडिया के सहारे लोगों को बेहद कम वक्त में ताजा सूचनायें भी प्राप्त हो जाती है ★ G Express News के लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ईमानदार ना रुका ना झुका..... क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है