सिक्योरिटी एजेंसी की आड़ में नौकरी देने के बहाने लाखों रुपए की ठगी, सीआईएसएस के खिलाफ जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

सिक्योरिटी एजेंसी की आड़ में नौकरी देने के बहाने लाखों रुपए की ठगी, सीआईएसएस के खिलाफ जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

भीलवाड़ा (राजस्थान/ राजकुमार गोयल) भीलवाड़ा में एसबीआई बैंक के एटीएम पर सीआईएसएस सिक्योरिटी द्वारा सुरक्षा गार्ड लगाए गए लेकिन इस कोरोना काल में भी सिक्योरिटी एजेंसी के अधिकारियों ने गार्डों से नौकरी लगाने के एवज में डीडी के नाम पर ठगी करने का धंधा बना रखा है जिससे गरीब गार्डों के साथ लाखों रुपए की धोखाधड़ी की जा कर  हड़पे जा रहे हैं यह आरोप एसबीआई के एटीएम पर नियुक्त सेंट्रल इन्वेस्टिगेशन सिक्योरिटी सॉल्यूशन लिमिटेड इंडिया के कई गार्डों ने लगाते हुए जिलाधीश महोदय के नाम अतिरिक्त कलेक्टर शहर को व पुलिस अधीक्षक के नाम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन व परिवाद रतनलाल आचार्य के नेतृत्व में सौंपते हुए बताया कि उक्त कंपनी ने अप्रैल 2021 में भीलवाड़ा में 203 से ज्यादा गार्डों को एसबीआई एटीएम पर नौकरी लगवाने के एवज में कंपनी द्वारा नियुक्त सुपरवाइजर शहजाद के जरिए प्रति गार्ड ₹14000 कंपनी में डीडी के नाम पर वसूले गए जिसे हम गरीब गार्डों ने अपने परिवार जनों के गहने  गिरवी रख ब्याज से लाकर जमा करवाएं ताकि हमारे परिवार का पालन पोषण कोरोना काल में चल सके लेकिन उक्त सिक्योरिटी कंपनी के अधिकारियों ने मिलीभगत व षड्यंत्र से लाखों रुपए गरीबों के हड़पने की नियत से चार-पांच माह बाद उक्त शहजाद नामक सुपरवाइजर को हटाकर  गार्डों की डीडी जमा नहीं होना बताकर गार्डों से दोबारा डीडी राशि जमा कराने हेतु दबाव बनाते हुए नहीं जमा कराने पर सैलरी रोक दी गई तथा कई गार्डों की पीएफ राशि भी नहीं जमा कराई जा रही है तथा  नौकरी से निकालने की धमकी दी जा रही है जिस पर हम गार्डों द्वारा उच्च अधिकारी वी एस रावत हे महावीर सिंह फौजी को शहजाद सुपरवाइजर को डीडी राशि जमा कराने की जानकारी व मोबाइल रिकॉर्डिंग तथा अन्य प्रूफ से अवगत कराने के उपरांत भी उक्त अधिकारियों द्वारा मिलीभगत व लाखों रुपए ठगी करने के षड्यंत्र के चलते उक्त सुपरवाइजर पर कोई कार्यवाही नहीं की जा कर गरीब गार्डो पर दोबारा रुपए इतने के लिए दबाव बनाया जा रहा है जो गलत है जहां एक और राज्य सरकार व केंद्र सरकार कोरोना काल में गरीबों की सहायता कर रही है तू दूसरी ओर ऐसी सिक्योरिटी कंपनी के कुछ भ्रष्ट अधिकारी गरीबों से लाखों रुपए हड़पने का सिक्योरिटी गार्ड में धंधा बना रखा है अतः हम को न्याय दिलाया जा कर ऐसी धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा कर कोर्णाक आल में नौकरी के नाम पर रुपए वसूलने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जा कर ठगे गए रुपए बरामद कर सभी गानों को उनकी राशि वापस लौटाई जाकर कंपनी को पाबंद किया जावे ताकि हम सभी कार्ड अपने अपने गरीब रखे गहने छुड़ाकर हमारे परिवार का पालन पोषण सुचारू रूप से कर सकें वह हमें इस कोरोना का हाल में नौकरी से निकालने से भी कंपनी को पाबंद किया जावे। उक्त ज्ञापन परिवार देते समय सीआईएसएस के गार्ड अनुराग टेलर हितेश गर्ग किशन सिंह सुरेंद्र सिंह गोविंद आचार्य रणजीत मीणा सोनू धोबी कैलाश गाडरी दिनेश वैष्णव संत कुमार मीणा मनोहर लाल सहित कहीं गार्ड उपस्थित थे