60 से अधिक कॉलोनियों को नहीं मिल रहा चम्बल का पानी, पीएचइडी, जिला कलक्टर व युआईटी को चम्बल पेयजल सप्लाई नहीं करने पर नोटिस जारी

60 से अधिक कॉलोनियों को नहीं मिल रहा चम्बल का पानी, पीएचइडी, जिला कलक्टर व युआईटी को चम्बल पेयजल सप्लाई नहीं करने पर नोटिस जारी

भीलवाड़ा (राजस्थान/ बृजेश शर्मा) पीपुल फॉर एनीमल्स के प्रदेश प्रभारी पर्यावरणविद् बाबूलाल जाजू ने चम्बल का पानी शहर की 60 से अधिक कॉलोनियों को नहीं मिलने के मामले में अधिवक्ता अश्विनी चौबीसा के माध्यम से जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, जिला कलक्टर व सचिव नगर विकास न्यास भीलवाड़ा को नोटिस प्रेषित किया है।

जाजू ने बताया कि 10 वर्ष पूर्व 3300 करोड़ रूपयों की लागत से चम्बल परियोजना की शुरूआत जिले में जल आपूर्ति के लिए की गई थी, जिसके तहत जिले के हजारों गांवो तक चम्बल का पानी उपलब्ध कराया जा रहा है, किंतु 60 से अधिक कॉलोनियों को अब भी नगर विकास न्यास व पीएचईडी पेयजल उपलब्ध नहीं करवा पाये हैं, जबकि इन कॉलोनियों से नगर विकास न्यास द्वारा नियमन व  विकास शुल्क वसूल कर इन्हें पट्टे भी जारी किये हुए हैं। जाजू ने नोटिस में बताया कि 150 टीडीएस वाले चम्बल के पानी के अभाव में इन कॉलोनिवासियों को 2000 तक हाई टीडीएस का पानी पीने को मजबूर होना पड़ रहा है जिससे बाल झड़ने व पथरी सहित गंभीर बीमारियां हो रही है। जाजू ने बताया कि इन कॉलोनियों में लगभग 30 हजार से अधिक लोग रहते हैं जो काफी समय से संबंधित विभागों से चम्बल पेयजल सप्लाई की मांग भी कर रहे हैं। जाजू ने बताया कि साफ व स्वच्छ पेयजल हर प्राणी का प्राकृतिक व मूल अधिकार है। जाजू ने नोटिस में चेताया कि शीघ्र ही इन कॉलोनियों को पेयजल उपलब्ध नहीं करवाया गया तो उच्च न्यायालय में रिट दायर करेंगे।