रिटायर पुलिसकर्मी ने लगाया पत्नी के साथ बदसलूकी का आरोप, एसएचओ पर थप्पड़ मारने का आरोप

रिटायर पुलिसकर्मी ने लगाया पत्नी के साथ बदसलूकी का आरोप, एसएचओ पर थप्पड़ मारने का आरोप

बहरोड़ अलवर

अलवर जिले के बहरोड़ कस्बे में शुक्रवार को संवेदनहीनता की एक ऐसी घटना हुई जिसे जिसने भी सुना वह दंग रह गया मामला पारिवारिक झगड़े का था जहां रिटायर पुलिसकर्मी की पत्नी बहरोड़ पुलिस थाने में अपने बेटों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने पहुंची थी की उसके पुत्रों के बीच मकान का विवाद चल रहा है और बेटे बुजुर्ग दंपति को घर में रहने के लिए जगह नहीं दे रहे हैं

प्राप्त जानकारी के अनुसार 64 वर्षीय वृद्धा अपने पुत्रों के खिलाफ पुलिस थाना बहरोड में शिकायत दर्ज कराने पहुंची थी जहां पुलिस के द्वारा छोटे पुत्र को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया वहीं बड़े पुत्र को थाने में लाकर पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया जबकि वृद्धा देर रात तक पुलिस थाने के बाहर बैठे रही शुक्रवार को सुबह थानाधिकारी को जब उन्होंने बताया कि मकान उनके पति का है लेकिन बहू बेटे उन्हें रहने की जगह नहीं दे रही हैं बड़ी बहू से एक कमरा दिलवा दे  जिससे कि वह अपना गुजर-बसर कर सकें लेकिन थाना अधिकारी ने इस बीच अपना आपा खो दिया और वृद्धा को थप्पड़ जड़ दिया वृद्धा ने जब चीख-पुकार मचाई तो उन्होंने महिला कांस्टेबल को बुलाकर पिटाई करने को कहा इस पर वृद्धा पुलिस थाना से बाहर भाग कर पहुंची और बाहर खड़े अपने पति जो कि रिटायर्ड पुलिसकर्मी हैं उन्हें अपनी  आपबीती बताई।।

विनोद सांखला थानाधिकारी बहरोड़- लोग पुलिस पर बदनामी का ठीकरा फोड़ते हैं महिला का पारिवारिक विवाद है बेटे - बहू को जेल में डलवाना चाहती है जबकि वह लोग पढ़े लिखे हैं मैंने कोई थप्पड़ नहीं मारा आरोप झूठा है

गौरतलब है कि बहरोड़ थाना अधिकारी विनोद सांखला नगर पालिका के चुनाव  के दौरान युवक की पिटाई के मामले में सांसद महंत बालक नाथ से भी उलझ चुके हैं तब सांसद ने भी उनकी कार्यशैली पर सवाल उठाए थे

वही विधायक बलजीत यादव भी प्रशासनिक एवं अधिकारियों को हिदायत दे चुके हैं कि कोई भी फरियाद लेकर आए तो पुलिस व अधिकारी प्रेम से सुने इसके बावजूद थाने में वृद्धा हो थप्पड़ मारने की घटना ने सवाल खड़े कर दिए हैं