विद्युत निगम के लिए अनोखा शहर बना तखतगढ़, जहां चंद छींटे पडते ही विद्युत सप्लाई कर दी जाती है बंद

विद्युत निगम के लिए अनोखा शहर बना तखतगढ़, जहां चंद छींटे पडते ही विद्युत सप्लाई कर दी जाती है बंद

तखतगढ़  (पाली,राजस्थान/ बरकत खान) राजस्थान का तखतगढ़  शहर अपने अंचल का  बहुत  अनोखा शहर है। जहां जरा सी आंधी आने पर या आसमान से छींटे बरसने पर झट से पूरे शहर की बिजली बंद कर दी जाती है। निगम के अधिकारियों को अपने ही विद्युत तंत्र पर भरोसा नहीं है। अधिकारियों को डर सताता है कि कहीं कोई ट्रांसफार्मर की तारें खुली नहीं पड़ी हो या फिर खंम्भे की तारे लटक रही हो जिससे करंट फैला हुआ हो और कोई बेमौत में मर जाए। बिल्कुल अधिकारियों की यह चिंता जायज है लेकिन इस तरह की लापरवाही के लिए जिम्मेदार भी तो यही अधिकारी ही हैं। अभी पिछले सप्ताह ही जबकि बारिश नहीं थी, . . . पास में ही बिजली की तारें खुली है  इस मरम्मत कार्य के ठेकेदार को मजदूरों को सुरक्षा उपकरण नहीं देने के लिए जिम्मेवार ठहराते है,वहीं  उसमें निगम के अधिकारियों को भी लापरवाही का दोषी बराबर है। बात हो रही है बिजली बंद करने की, आज सुबह से शहर में हल्की बारिश हो रही है। शहर के अनेक क्षेत्रों में बिजली बंद की हुई है।ऐसा शायद ही किसी शहर में होता होगा, जहां जरा सी आंधी आने या बारिश होने पर पूरे शहर बिजली ही बंद कर दी जाती हो। लोगों को तो इससे परेशानी होती है विद्युत निगम को भी भारी आर्थिक नुकसान होता है, क्योंकि इस दौरान विद्युत की खपत बंद हो जाती है। विद्युत निगम पहले से ही बहुत घाटे में है। घाटे का एक कारण तो इसी बात से समझा जाता है कि आंधी या बरसात होने पर बिजली को बंद कर देना।  मावठ की बारिश का दौर है, जो अक्सर एक हफ्ते तक चलती है। मगर इस बार मौसम विभाग ने 8 जनवरी तक बारिश की आशंका जताई है। इस दौरान बिजली बंद रखी जाएगी तो निगम को तो भारी राजस्व का नुकसान तो होगा ही शहरवासियों को भी परेशानी झेलनी पड़ेगी।