नीमकाथाना के पास पहाड़ी पर बसा यह 450 साल पुराना चमत्कारी आश्रम: दूर-दराज से मन्नत मांगने आते हैं श्रद्धालु

धर्म की महिमा बहुत बड़ी है उसका पालन करना बहुत कठिन है -मदन लाल भावरिया

नीमकाथाना के पास पहाड़ी पर बसा यह 450 साल पुराना चमत्कारी आश्रम: दूर-दराज से मन्नत मांगने आते हैं श्रद्धालु

नीमकाथाना (सीकर, राजस्थान/ सुमेरसिंह राव) सीकर जिले के नीमकाथाना के पास स्थित गोविंदपुरा गांव के पास गांव के नाम से ही 450 वर्ष पुराना गोविंद दास महाराज का आश्रम बसा हुआ है l बहुत पुराने इस आश्रम पर वहां की हकीकत जानने के लिए हमारी टीम जब पहाड़ी पर बसे इस आश्रम पर पहुंची तो वहां के पुजारी ओमप्रकाश शर्मा ने मंदिर के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह  1637 में बसा है चमत्कारी स्थान होने के कारण काफी दूरदराज से लोग यहां मन्नत मांगने आते हैं l मंदिर के पुजारी ने आगे बताया कि यहां पहाडी पर 450 साल पुराना ठाकुर जी का मंदिर भी है ग्राम पंचायत ने विशेष रूचि लेकर यहां गोविंद दास वाटिका के नाम से करीब 2000 से ज्यादा हरे भरे पेड़ पौधे भी लगाए हैं 
पौधे लगाने में पंचायत के सरपंच प्रतिनिधि इंदर सिंह मीणा व उनकी टीम का विशेष योगदान रहा है l राष्ट्रीय सामाजिक जन चेतना मंच के अध्यक्ष मदन लाल भावरिया ने भी आश्रम पर पहुंचकर ठाकुर जी के मंदिर में मन्नत मांगी और कहा कि धर्म की महिमा बहुत बड़ी है उसका पालन करना कठिन है l यहां प्रतिवर्ष भादवा माह के छठ को विशाल मेला भी लगता है तथा भंडारे का भी आयोजन होता है l 
गोविन्द युवा मित्र मंडल द्वारा गोविन्दपुरा गावं में श्री गोविन्ददास जी महाराज के मंदिर में भंडारे का आयोजन और सुप्रसिद्ध कलाकार झाबर छैला द्वारा रात्रि जागरण किया गया ! जिसमें समाजसेवी मदन लाल जी भावरिया , जुगलजी शर्मा, सरपंच प्रतिनिधि इन्द्र मीना , ओमप्रकाश नेहरा आदि ने शिरकत की ! कार्यक्रम में पुजारी ओमप्रकाश जी के सानिध्य में मंडल अध्यक्ष रणवीर सिंह, चन्द्र सोनी, राधेश्याम नवीन सैन, हंसराज मीना, गिरिराज शर्मा, रामसिंह जयसिंह तंवर, पिन्टू तेतरवाल, सतीश  शर्मा व सुभाष यादव आदि का सराहनीय सहयोग रहा!

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है