हिजाब (बुर्का) पहन महाकालेश्वर मंदिर पहूँची महिला, गर्भ गृह में जाने से पहले पुलिस ने पकड़ा

हिजाब (बुर्का) पहन महाकालेश्वर मंदिर पहूँची महिला,  गर्भ गृह में जाने से पहले पुलिस ने पकड़ा

उज्जैन (मध्यप्रदेश/ बृजेश शर्मा) देश में कर्नाटक में शिक्षा के मंदिर से शुरू हुआ हिजाब  पहनने का मामला अब शिक्षा के मंदिर से होते हुए भगवान आदि शिव महाकालेश्वर के मंदिर तक पहुंच गया है राजस्थान की भीलवाड़ा से आई एक महिला महाकालेश्वर के मंदिर में हिजाब (बुर्का) पहनकर अपने परिजनों के साथ पहुंच गई लेकिन मंदिर के गर्भ गृह में जाने से पहले ही मंदिर के सुरक्षाकर्मी ने उसे रोक दिया और पुलिस में सूचना पर उसे पकड़ लिया पकड़ी गई महिला हिंदू बताई जाती है।
उज्जैन महाकालेश्वर मंदिर में एक महिला मां, पिता व भाई के साथ बुर्का पहनकर दर्शन करने पहुंची। मंदिर के सुरक्षाकर्मियों ने जब दर्शन की लाइन में लगी महिला को बुर्का पहने देखा तो उन्हे शंका हुई उन्होंने फौरन पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुँची पुलिस महिला को लेकर महाकाल पुलिस थाने ले गई।
थाने में जब महिला ने पुलिस ने पूछताछ की तो उसका जबाव सुन पुलिस चौंक गई । महिला ने कहा कि वह हिन्दू है लेकिन एक जिन्न के आदेश पर वह बुर्का पहनकर महाकाल के दर्शन करने आई है।
मदिर चौकी पुलिस के अनुसार बताया जा रहा है कि भीलवाड़ा निवासी लक्ष्मी मां व रिश्तेदार किशन पुत्र डालचंद के साथ बस से उज्जैन पहुंची थी। लक्ष्मी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है।
लक्ष्मी ने परिजनों को बताया उसे जिन्न ने आदेश दिया कि वह काले कपड़े पहनकर महाकाल के दर्शन करे तो वह ठीक हो जाएगी। इस पर लक्ष्मी के स्वजन उसे लेकर उज्जैन पहुंची थे और लक्ष्मी हिजाब(बुर्का) पहनकर मंदिर में प्रवेश करने के दौरान सुरक्षाकर्मियों को शंका हुई तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी थी।
कुछ लोगों ने आपत्ति भी की थी। पुलिस ने उसे थाने ले जाकर पूछताछ की तो पुलिस भी महिला का जबाव और महिला के बारे मे जानकर चौंक गई क्योंकि उक्त महिला हिन्दू थी। पुलिस ने पूरी तरह तस्दीक करने व आधार कार्ड देखने के बाद महिला को छोड़ दिया। हालांकि महाकाल मंदिर में बुर्का पहनकर प्रवेश नही किया जा सकता है।
 

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है