खनन क्षेत्र का दौरा कर लौट रहे बाबा हरिबोल को कार ने मारी टक्कर: हुए घायल

खनन क्षेत्र का दौरा कर लौट रहे बाबा हरिबोल को कार ने मारी टक्कर: हुए घायल

पहाड़ी (भरतपुर, राजस्थान/भगवानदास) राजस्थान सरकार द्वारा ब्रज क्षेत्र के पहाड़ों को वन संरक्षित क्षेत्र घोषित करने के बावजूद भी कामा पहाड़ी क्षेत्र में अवैध खनन रुकने का नाम नहीं ले रहा है। फिलहाल भी ब्रज क्षेत्र के पहाड़ों में राजस्थान सरकार की रोकथाम के बावजूद भी ब्लास्टिंग हो रही है। ओवरलोड गाड़ियां दिनदहाड़े चल रही है लेकिन इन पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। जिसको लेकर प्रशासन की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। जबकि काफी दिनों से साधु संतों द्वारा धरना प्रदर्शन किया जा रहा है करीब डेढ़ साल धरना प्रदर्शन चलने के बावजूद भी अवैध खनन धड़ल्ले से हो रहा है। अवैध खनन को लेकर साधु संत महात्माओं द्वारा जो धरना प्रदर्शन किया जा रहा था सप्ताह पूर्व उसी स्थान पर अपने शरीर में पेट्रोल छिड़ककर विजय दास बाबा ने अपने शरीर को आग लगा ली उनका शरीर झुलस गया था। लेकिन उनको नहीं बचाया जा सका उन्होंने ब्रज क्षेत्र के पर्वतों की खातिर अपने प्राणों को न्यौछावर कर दिया

यह खबर भी पढ़े::::- अचानक बढ़ाई बाबा हरिबोल की निगरानी: फूट डालने की मंशा छोड़ वादा पूरा करे सरकार, बिन मांगे क्यों दी जा रही सुरक्षा- हरिबोल दास
वही आज गुरुवार को खनन क्षेत्र का दोैरा कर लौट रहे बाबा हरिबोल दास की बाइक  में कार के चालक ने टक्कर मार दी है।जिसमें बाबा चोटिल हो  गए है।सुरक्षा गार्ड सुरिक्षत है। बाइक क्षतिग्रस्त  हो गई है।बाबा का प्राथमिक उपचार पहाडी चिकित्सालय मे कराया गया है। समझाइस के बाद बाबा ने राजीनामा कर लिया है। बाबा हरिबोलदास मूंगसका सहित पसोपा आदिबद्री कंकानचल खनन क्षेत्र का दोरा कर बाइक से लोट कर पहाडी आ रहे थे। बाढ (बन्डोर) के चौराहे पर  कैथवाडा की तरफ से तेज गति से आ  रही कार के चालक ने टक्कर मार  दी जिसमेंं बाबा गिरकर चोटिल हो गए है। सुरक्षा गाडो्र ने उन्हे सभ्भाला।बाइक भी  क्षतिग्रस्त हो गई है।उनके साथ उनका गार्ड गिरधारी, निगरानी मे लगा कास्टेबल रूपसिह के अलावा दो पुलिस कर्मी पीछे आ  रहे थे। जो पूरी तरह से सुरक्षित है।थाने में समझाइस के बाद बाबा ने कार चालक को माफ कर राजीनामा कर लिया है। पुलिस ने हिरास्त मे लिए चालक व कार को छोड दिया है। 

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है