सात फेरों से पहले बदल गया दूल्हा - चली गोलियां,एक की मौत

सात फेरों से पहले बदल गया दूल्हा - चली गोलियां,एक की मौत

बिहार (शशि जायसवाल)

भागलपुर के रंगरा सहायक थाना क्षेत्र एक गांव में शादी से पहले दुल्हा ही बदल दिया गया। ये घटना सहोरा गांव की बताई जा रही है। जहां पर बैंड बाजे और डीजे की धुन पर नाचते गाते पहुंचे बारातियों की खुशी उस समय काफूर हो गई जब सात फेरों से पहले दूल्हे के बदल जाने के मामले को लेकर विवाद हो गया। जमकर हुए बवाल के बीच चली गोलियों की चपेट में आकर दुल्हन के भाई की मौत हो गई। जिससे शादी की खुशियां मातम में बदल गई। हर कोई हैरान है कि आखिर ये कैसे हो गया। सभी के जुबान पर एक ही सवाल है। 

दरअसल जनपद भागलपुर के सहोरा गांव में रहने वाले कैलाश यादव की बेटी अंजलि की बीते दिन मंगलवार की रात खगड़िया जिले के बंदेहरा गांव से बारात आई थी। निर्धारित तिथि पर बारात गांव में पहुंची। बैंड बाजे और डीजे की धुन के बीच बारात की धूमधाम के साथ बाराती नाचते कूदते हुए लड़की पक्ष के घर पहुंचे। जयमाला के बाद बारात में आए लोगों को खाना खिलाया गया। जिस समय सात फेरे लेने का समय हो रहा था तो उसी दौरान दूल्हे के बदल जाने की बात लड़की पक्ष को पता चल गई। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया

 आरोप है कि वर पक्ष के लोगों ने लाठी-डंडों से लड़की पक्ष के ऊपर हमला बोल दिया, जिससे कई लोग घायल हो गए। इस दौरान चलाई गई गोली की चपेट में आकर दुल्हन अंजलि के चचेरे भाई राजू यादव की मौत हो गई। घटना के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। जानकारी मिलते ही एसडीपीओ दिलीप कुमार की अगुवाई में पुलिस फोर्स गांव में पहुंची और मामले को शांत कराया। पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बवाल में जख्मी हुए राजू के बड़े भाई को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस अब गोलीबारी कर फरार हुए आरोपी की तलाश में जुटी हुई है।

गहरे सदमे में हैं परिवारजन-ग्रामीण

मृतक राजू विवाहित था। महज सात-आठ माह पहले उसकी शादी मानसी में हुई थी। वह बीएलएस कॉलेज का छात्र था। सेना में जाने की तैयारी कर रहा था। अपने पांच भाइयों में वह सबसे छोटा था।  मृतक प्रेमीलाल यादव का छोटा पुत्र राजू यादव है। घायलों में मृतक के भाई कारे लाल यादव और मिथुन कुमार है। राजू यादव को एक गोली सीने में और एक गोली बांह पर लगी थी। पुलिस ने शव को अनुमंडल अस्पताल भेजा। घायलों को अस्पताल पहुंचाया। मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर अंतिम संस्कार के लिए परिजनों कौ सौंप दिया। देर रात परिजन और कई ग्रामीण नवगछिया अनुमंडल अस्पताल पहुंच गए थे। लड़का पक्ष से भी पांच लोग घायल हैं। रंगरा पीएचसी में इलाज किया जा रहा है।