सरकार के आदेशों के बाद भी बेखौफ चल रहा है बाणगंगा नदी में अवैध खनन व परिवहन, पुलिस और प्रशासन नहीं कर रहा कोई कार्यवाही

सरकार के आदेशों के बाद भी बेखौफ चल रहा है बाणगंगा नदी में अवैध खनन व परिवहन,  पुलिस और प्रशासन नहीं कर रहा कोई  कार्यवाही

महुवा / अवधेश कुमार अवस्थी :- 20 मई महुआ उपखंड क्षेत्र से होकर गुजर रही बाणगंगा नदी में लगातार खनन माफियाओं द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों को ठेंगा दिखाते हुए बेखौफ होकर अवैध खनन करते हुए ट्रैक्टर ट्रॉली द्वारा बजरी का परिवहन किया जा रहा है। इस मामले को लेकर अनेकों बार पुलिस प्रशासन को सूचित करने पर पूरी कार्रवाई की जाती है जिसके चलते अवैध खनन कर्ताओं के हौसले बुलंद हैं बाणगंगा नदी में हो रहे अवैध बजरी खनन को लेकर पुलिस व प्रशासन अपनी आंखें मूंद कर बैठा हुआ है। जिसके चलते प्राचीन  बाणगंगा नदी अपना मूल स्वरूप पूर्ण रूप से खो चुकी है। अवैध खनन के चलते नदी में गहरे गहरे गड्ढे बन गए हैं। जो चंबल की बीहड़ों जैसे नजर आते हैं। इन गहरे गड्ढा के कारण अवैध गतिविधियां भी इन इलाकों में चलती है प्राप्त जानकारी के अनुसार महुआ विधानसभा क्षेत्र के नांदना, टुडियाना, रसीदपुर, दुल्हापुरा, धौलखेड़ा, बडीन कमालपुर, टीकरी जाफरान सहित दर्जनों  गांव में खनन माफियाओं द्वारा जेसीबी व एलएनटी मशीन लगाकर बजरी का अवैध खनन किया जा रहा है।‌ यही नहीं उनके द्वारा ट्रैक्टर ट्रॉली के माध्यम से बजरी का परिवहन कर स्थानीय कस्बों गांवों के साथ आसपास के जिलों में अवैध रूप से बजरी पहुंचाई जा रही है। लेकिन पुलिस और प्रशासन द्वारा इसके खिलाफ कोई कठोर कार्यवाही नहीं की जा रही है। खनिज विभाग द्वारा महीने या दो महीने में कुछ अवैध अवैध खनन कर्ताओं  के खिलाफ छोटी मोटी कार्रवाई कर इतिश्री कर ली जाती है। इनके खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं किए जाने के कारण खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। और उनके द्वारा लगातार बाणगंगा नदी में अवैध खनन कर बजरी का परिवहन किया जा रहा है। जबकि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट द्वारा बड़ा फैसला सुनाते हुए राजस्थान में बजरी परिवहन पर रोक लगाई है। वही उनके द्वारा बिना कमर्शियल रजिस्ट्रेशन के ट्रैक्टर ट्रॉली द्वारा बजरी परिवहन करने पर पूर्ण रूप से रोक लगाई गई है। जिसके बावजूद भी पुलिस और प्रशासन द्वारा बजरी परिवहन को रोकने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। क्षेत्र के महुव थाना, रसीदपुर चौकी, बालाहेडी चौकी मंडावर महुआ सलेमपुर थाना क्षेत्र होकर रोज दर्जनों ट्रैक्टर ट्रॉली बजरी भरकर निकलते हैं लेकिन प्रशासन उन्हें रोकने तक की जहमत नहीं उठाई जाती। हाल ही में बजरी लीज एवं एल ओ आई होल्डर्स वेलफेयर समिति के द्वारा विगत दिनों दौसा जिला कलेक्टर व दोसा पुलिस अधीक्षक को  हाई कोर्ट के निर्णय के बाद भी महुआ क्षेत्र में हो रहे अवैध बजरी खनन व परिवहन को रोके जाने की मांग को लेकर ज्ञापन भी दिया गया है।

दिन प्रतिदिन गिर रहा है जलस्तर

बाणगंगा नदी में लगातार हो रहे अवैध खनन के कारण दिन प्रतिदिन क्षेत्र का जल स्तर गिरता जा रहा है जो किसानों साथ आमजन के लिए चिंता का विषय है। बाणगंगा नदी में अवैध बजरी खनन के कारण नदी में 100 से 200 फिट तक गहरे गहरे गड्ढे बन चुके हैं। जिसके कारण क्षेत्र का जलस्तर दिन प्रतिदिन गिरता जा रहा है।

खनिज विभाग दोसा के खनिज अभियंता लक्ष्मी चंद मीणा ने बताया कि राज्य सरकार के आदेशानुसार 15 मई से बजरी के खनन व परिवहन पर रोक लगाए जाने को लेकर विभाग द्वारा  विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत टीम गठित कर पूरे जिले में कार्रवाई अवैध खनन करने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। जो लगातार एक महीने तक जारी रहेगी।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है