ईओ व चेयरमैन की जुगलबंदी से मंत्री जी रहे बेखबर

ईओ व चेयरमैन की जुगलबंदी से मंत्री जी रहे बेखबर

जहाजपुर (भीलवाडा, राजस्थान/ आज़ाद नेब) नगरपालिका में तकरीबन डेढ़ साल से साधारण सभा की बैठक आहूत नहीं होने, पालिका में भाजपा व कांग्रेस मे तकरार जैसी खबरें मिडिया या नेताओं द्वारा सुनी या पढ़ी होंगी जो आम लोगों को दिखाने एवं मंत्री जी अंधेरे में रखने के लिए थी। पालिका के पुर्व ईओ व चेयरमैन ने अपनी इस जुगलबंदी की भनक अपने आकाओं को भी नहीं लगने दी। आपने एक कहावत तो सुनी होगी हाथी के खानें के दांत अलग ओर दिखाने के अलग। ऐसा ही राजनीतिक खेल का शिकार हुए हैं जहाजपुर पालिका क्षेत्र के आम नागरिक। कुछ दिनों तक तनातनी का माहोल पैदा करके आभामंडल तैयार किया गया जिसमें आमजन व नेताओं को यह महसूस करवाया गया कि हमें पालिका में काम नही करने दिया जा रहा है। वास्तव में पालिका क्षेत्र के लोगों को भी यह लग रहा था कि पालिका कार्यों में राजनीतिक खिंचतान के चलते रूकावट हो रही है। जबकि सच्चाई यह थी कि पालिका क्षेत्र में गुपचूप तरीके से लगभग सभी कार्य बदस्तूर हो रहे थे ओर अभी भी जारी है केवल अपना उल्लू सीधा करने के लिए जनता को बेवकूफ बनाया गया था। यह सब पढ़ कर आमजन ठगा सा महसूस कर रहे होंगे। लेकिन यह सच है जो कईयों को हज़म नहीं होगा। पालिका द्वारा दिए गए पट्टे हो या सीसी रोड ओर अन्य कार्यों में दोनों की जुगलबंदी ने मंत्री जी व विधायक को गलफत में रखा। 
राजनीतिक सुत्रों के मुताबिक गुपचुप तरीके से अब तक पालिका क्षेत्र में 500 पट्टे वितरित हो चुके अच्छी बात है होने भी चाहिए। लेकिन गुपचुप तरीके से क्यों। प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत लगाए जा रहे केम्प दिए जाने चाहिए। इस जुगलबंदी जोड़ी ने गुपचुप तरीके से अपने चहेते ठेकेदारों को टेंडर लेकर पालिका क्षेत्र के पच्चीस वार्डों में पांच पांच लाख के कार्य के टेंडर निकाले जिनमें अधिकतर भाजपा पार्षदों के वार्ड में ही कार्य हुए हैं जबकि कॉन्ग्रेस से जीते पार्षदों के वार्ड को भेदभाव तरीके से कार्य को अंजाम नहीं दिया गया। ओर पालिका के  21, 22, 23, 24, 25 वार्डों में नए हैंडपंप लगाए जिनका भूगतान भी हो चुका है। आज से पांच से छह महीने पहले ही बिना टेंडर प्रक्रिया के ही ग्रेवल डाली गई जिसके टेंडर बेग डेट में जारी कर अपने चहेते ठेकेदारों को फायदा पहुंचाया गया। 
अपने तरीके से एस्टीमेट बनाकर एमडीआर 7 से जुड़े 9 नये सीसी रोड चार करोड़ पचास लाख रुपए स्वीकृत करवाएं जिनकी निविदा अभी निकलनी है। जिसमें एक कार्य नगर के बिंदी गेट दरवाजे तक का है
इसके अलावा सारे ही कार्य एमडीआर 7 से जुड़े 21, 22, 23, 24, 25 वार्डों से है। जिसमें विधायक गोपीचंद मीणा के भी हस्ताक्षर हुए हैं। ऐसे ही बजट घोषणा मे स्वीकृत हुए करोड़ों रुपए जो पालिका क्षेत्र में मेजर रिपेयर में लगाने थे जिनमें बदलाव कर 11 जगहों पर नये रोड़ निर्माण का कार्य शुरू करवाया दिया। जो शिकायतन के आधार बंद है।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है