राजस्थान के 500 मदरसों होंगे डिजिटल: स्मार्ट क्लास रूम में तालीम हासिल करेंगे बच्चे

राजस्थान के 500 मदरसों होंगे डिजिटल: स्मार्ट क्लास रूम में तालीम हासिल करेंगे बच्चे

राजस्थान में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए जहां सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से अलग-अलग सुविधाएं उपलब्ध करवा रही है ऐसे में राजस्थान मदरसा बोर्ड से पंजीकृत मदरसों में तालीम हासिल करने वाले बच्चों को स्मार्ट क्लासरूम की सौगात मिली है
अल्पसंख्यक मामलात मंत्री साले मोहम्मद ने बताया कि राजस्थान सरकार ने प्रदेश के मदरसों को आधुनिक तकनीक से जोड़ने की शुरुआत कर दी है, इन मदरसों में बेहतर शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए स्मार्ट क्लासरूम जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी ब्लैक बोर्ड की जगह स्मार्ट बोर्ड के जरिए बच्चे तालीम हासिल करेंगे
साथ ही बताया कि इसके लिए मुख्यमंत्री ने 13.10 के अतिरिक्त बजट की स्वीकृति प्रदान की है, वही राजस्थान मदरसा बोर्ड द्वारा पंजीकृत मदरसों में से 500 मदरसों में स्मार्ट क्लासरूम स्थापित किए जाएंगे जिसमें प्रति मदरसा 2.62 लाखों रुपए खर्च होंगे
मंत्री साले मोहम्मद ने बताया कि मुख्यमंत्री मदरसा आधुनिकीकरण योजना के तहत मदरसों में आधारभूत संरचनाओं का विकास कराया जा रहा है जिनमें लाइब्रेरी की स्थापना की जा रही है जिससे महापुरुषों की जीवनी की पुस्तक में बच्चों को मदरसों में मिल सके,  साथ ही मंत्री ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न ब्लॉक में राज्य अल्पसंख्यक आवासीय विद्यालय शुरू किए गए हैं जिनमें अल्पसंख्यक समुदाय के बालक बालिका शिक्षा हासिल कर रहे हैं इन आवासीय विद्यालय में लाइब्रेरी की स्थापना की जाएगी,, मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 344 आवासीय विद्यालयों में 36.56 करोड़ की लागत से लाइब्रेरी स्थापित करने की स्वीकृति दे दी है

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... मौजूदा समय में डिजिटल मीडिया की उपयोगिता लगातार बढ़ रही है। आलम तो यह है कि हर कोई डिजिटल मीडिया से जुड़ा रहना चाहता है। लोग देश में हो या फिर विदेश में डिजिटल मीडिया के सहारे लोगों को बेहद कम वक्त में ताजा सूचनायें भी प्राप्त हो जाती है ★ G Express News के लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ईमानदार ना रुका ना झुका..... क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है