परीक्षाओ के बीच कई स्कूलों को मिला धमकी भरा ई-मेल, अभिभावकों व स्कूलाें में मचा हड़कंप

मेल मे लिखा - स्कूल में बेहद पावरफुल बम किया गया है प्लांट, एहतियातन पुलिस ने 7 स्कूलो के सभी छात्रों को निकाला बाहर, तलाशी अभियान जारी

परीक्षाओ के बीच कई स्कूलों को मिला धमकी भरा ई-मेल, अभिभावकों व स्कूलाें में मचा हड़कंप

कर्नाटक के बेंगलूरू शहर में परीक्षाओ के बीच आज शुक्रवार को कई स्कूलों को धमकी भरा मेल मिला है जिसके तुरंत बाद से सूचना आग की तरह फ़ेल गई व स्कूलो मे हड़कंप मच गया एचएम आपको बता दे कि मेल मे लिखा है कि'यह मजाक नहीं है... स्कूल में 'बेहद पावरफुल बम' प्लांट किया गया है इसके बाद बेंगलुरु के विभिन्न स्कूलों मे अफरातफरी मच गई, स्कूल स्टाफ, बच्चों व अभिभावकों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। 
बताया जा रहा है की अज्ञात व्यक्तियों द्वारा सुबह 10:45 बजे, 11:09 बजे और 11:36 बजे तीन ई-मेल भेजे गए हैं जिनमे लिखा आपके स्कूल में एक शक्तिशाली बम लगाया गया है, मजाक नहीं है, यह मजाक नहीं है, आपके स्कूल में एक बहुत शक्तिशाली बम लगाया गया है,

तुरंत पुलिस को बुलाओ, सैकड़ों लोगों की जान जा सकती है जिनमें आप भी हैं, देर न करें, अब सब कुछ आपके हाथ में है. बमों को लेकर धमकी भरा ई-मेल मैसेज के बाद सभी स्कूलों में हड़कंप मच गया और परिसर खाली करा दिया गया. पुलिस को सतर्क किया गया और इसके तुरंत बाद वे अपने-अपने अधिकार क्षेत्र के स्कूलों में पहुंचे और ई-मेल की सत्यता की पुष्टि कर रहे हैं. बम निरोधक दस्ते और खोजी कुत्तों को भी अलर्ट कर दिया गया है.

बेंगलुरु पुलिस का कहना है कि पुलिस के मुताबिक, शहर के सात स्कूलो  को धमकी भरा ई-मेल मिला है जिनमे बेंगलुरु के बाहरी इलाके के चार स्कूल भी शामिल है, जिन स्कूलों में मेल भेजा गया है वहां परीक्षाएं चल रही थीं। यह मेल सुबह करीब 11 बजे आया। स्थानीय पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। जिन स्कूलों को मेल भेजा गया है, वहां तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। हालांकि, यह धमकी भरा मेल किस किसकी ओर से भेजा गया है, इसके बारे में अभी तक जानकारी नहीं मिल पाई है। पुलिस ने बताया कि मेल में लिखा हुआ था कि, "यह मजाक नहीं है, यह बिल्कुल भी मजाक नहीं है। स्कूल में एक पॉवरफुल बम प्लांट किया गया है। जल्दी से पुलिस बुलाओ। अब तुम्हारी और सैंकड़ों लोगों की जान जा सकती है। अब सबकुछ तुम्हारे हाथ में है।"

बताया जा रहा है कि बेंगलुरु शहर के पुलिस आयुक्त कमल पंत  का कहना कि एक अभ्यास है और उसके अनुसार बम निरोधक दस्ते वहां जांच के लिए गए हैं. पुलिस आयुक्त ने कहा कि ई-मेल के आधार पर हमारी टीम मौके पर जांच कर रही है... जब और जानकारी आएगी, तो इसे आपके (मीडिया) के साथ साझा किया जाएगा.

एक स्कूल की प्रबंधन समिति की एक सदस्य ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, ” कुछ स्कूलों में परीक्षाएं आयोजित की जा रही थीं, जबकि कुछ स्कूल में ग्रीष्मकालीन शिविर आयोजित किया जा रहा था।” वही एक स्कूल डायरेक्टर  का कहना है कि- “बच्चों की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है और चाहे ये फर्जी कॉल ही क्यों न हो पुलिस को ये सुनिश्चित करना चाहिए कि पूरी तरह से जांच हो।”

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है