ग्राम पंचायत का रोजगार सहायक अपने आपको समझता है दबंग

ग्राम पंचायत का रोजगार सहायक अपने आपको समझता है दबंग

ढीमरखेड़ा (कटनी, मध्यप्रदेश) जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत झिन्ना पिपरिया में पदस्थ रोजगार सहायक मुकेश त्रिपाठी अपने आपको समझ रहा हैं दबंग बातो से ऐसा लग रहा हैं जैसे सारे शासन प्रशासन को यही चला रहा हैं अधिकारियों से भी बात करने का तरीका अच्छा नहीं हैं मुकेश त्रिपाठी का, कई बार अधिकारियों, पत्रकारों से भी अभद्रता कर चुका हैं रोजगार सहायक मुकेश त्रिपाठी कुछ हों जाने पर कहता हैं मेरे पापा और भैया को जानते हों वो कौन हैं मानो इसके पापा और भैया सरकार चला रहे हैं ग्रामीण जनता ऐसे तानाशाह रोजगार सहायक मुकेश त्रिपाठी से बेहद परेशान हैं अब सोचा जा सकता है कि जब रोजगार सहायक अधिकारियों से अच्छे से बात नहीं करता तो बेचारी जनता से कैसे बात करता होगा रोजगार सहायक जिला पंचायत सदस्य अजय गौटिया जब झिन्ना पिपरिया पहुंचे तो बेचारी जनता ने कहा साहब अभी तक हमारा मकान नहीं मिला तो पूछा गया कि क्यू नहीं मिला तो कहा गया कि मैने 10 हजार रुपए नही दिए तो मुझे मकान नहीं मिला अब सोच सकते हैं कि जो रोजगार सहायक मुकेश त्रिपाठी को पैसा देगा उसी को मकान मिलेगा जो पैसा नहीं देगा उसको मकान नहीं मिलेगा, 2 साल से कुछ मजदूरों की मजदूरी भी नहीं मिल पा रही हैं जो मजदूरों के लिए सरकार बड़े- बड़े वादे करती हैं वही मजदूर यहां वहां भटक रहे हैं अब देखना यह होगा कि आखिर जिला पंचायत सदस्य अजय गौटिया मुकेश त्रिपाठी के ऊपर कार्यवाही करवा पाते हैं या नहीं। 

रिपोर्ट:- सत्येंद्र बर्मन

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... मौजूदा समय में डिजिटल मीडिया की उपयोगिता लगातार बढ़ रही है। आलम तो यह है कि हर कोई डिजिटल मीडिया से जुड़ा रहना चाहता है। लोग देश में हो या फिर विदेश में डिजिटल मीडिया के सहारे लोगों को बेहद कम वक्त में ताजा सूचनायें भी प्राप्त हो जाती है ★ G Express News के लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ईमानदार ना रुका ना झुका..... क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है