सरकार ने 4 माह बाद भी नहीं बाटी साइकिले: 3लाख 50 हजार बेटियों को पैदल जाना पड़ रहा है स्कूल

सरकार ने 4 माह बाद भी नहीं बाटी साइकिले: 3लाख 50 हजार बेटियों को पैदल जाना पड़ रहा है स्कूल
सरकार ने 4 माह बाद भी नहीं बाटी साइकिले: 3लाख 50 हजार बेटियों को पैदल जाना पड़ रहा है स्कूल

जयपुर: राजस्थान सरकार बार-बार बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कर रही है ऐसे में सरकार द्वारा सरकारी स्कूलों में कक्षा 9वी में पढ़ रही बालिकाओं को निशुल्क साइकिल वितरण करने का वादा भी करती है लेकिन राज्य के शिक्षा विभाग में शुरू हुए शैक्षणिक सत्र को चार माह का समय गुजर गया है लेकिन राज्य के सरकारी स्कूलों की कक्षा 9 में पड़ रही 350000 बेटियों को निशुल्क साइकिल सुविधा अभी तक नहीं मिल पाई है और यह भी पता नहीं कि उन्हें यह सुविधा कब तक मिलेगी जिसके कारण इन बेटियों को पैदल ही स्कूल जाना पड़ रहा है
हम आपको बता दें कि विभाग द्वारा हर साल सितंबर माह में कक्षा 9 में अध्ययनरत बालिकाओं के नामांकन की सूचना जिला वार मांग ली जाती है लेकिन इस बार अक्टूबर माह गुजर जाने के बाद भी यह सूचना नहीं मांगी गई हैरान कर देने वाली बात यह है कि विभाग के अधिकारियों को इस मामले में कोई जानकारी नहीं है कि बेटियों को साइकिलें कब तक वितरित की जाएगी,  सबसे बड़े असमंजस की बात यह है कि इस बाहर असमंजस की बात यह है कि इस बार साइकिलो की जगह चेक मिलने की बात सामने आ रही है लेकिन शिक्षा विभाग की ओर से अभी तक ऐसा कोई भी आदेश जारी नहीं हुआ है

कक्षा 6 से 8 तक पढ़ने वाली छात्राओं को भी सशर्त मिलेगी निशुल्क साइकिल सुविधा

राज्य मे इस बार सरकारी स्कूलों में कक्षा 6 से 8 तक पढ़ने वाली छात्राओं को भी निशुल्क साइकिल सुविधा मिलने की बात सामने आ रही है राज्य में कक्षा 6 से 8 तक सभी वर्गों की 1304887 बेटियां अध्यनरत है यह पहला अवसर होगा जब आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग ईडब्ल्यूएस की छात्राओं को भी निशुल्क साइकिल दी जाएगी जिनकी संख्या लगभग दो लाख होगी इस नई योजना में वरीयता के आधार पर चयन होगा जिसमें माता-पिता की वार्षिक आय एक लाख से कम होने पर ही इस योजना का लाभ मिलेगा अन्य किसी साइकिल योजना से लाभान्वित हो चुके छात्रों को इस योजना के लिए पात्र नहीं माना जाएगा प्रत्येक कक्षा में 60% या उससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली छात्राओं को इस योजना का लाभ दिया जाएगा
वही लोगों का कहना है कि राज्य सरकार व शिक्षा विभाग को इस मामले पर गंभीरता से विचार कर जल्द ही सरकारी स्कूलों में पढ़ाई कर रही छात्राओं को निशुल्क साइकिलों का वितरण कर देना चाहिए जिससे बेटियों को घर से स्कूल और स्कूल से घर आने जाने में परेशानियां ना हो साथी सरकारी स्कूलों में कक्षा छह से आठवीं तक पढ़ रही सभी वर्ग की बेटियों को साइकिल मिलनी चाहिए

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... मौजूदा समय में डिजिटल मीडिया की उपयोगिता लगातार बढ़ रही है। आलम तो यह है कि हर कोई डिजिटल मीडिया से जुड़ा रहना चाहता है। लोग देश में हो या फिर विदेश में डिजिटल मीडिया के सहारे लोगों को बेहद कम वक्त में ताजा सूचनायें भी प्राप्त हो जाती है ★ G Express News के लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ईमानदार ना रुका ना झुका..... क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है