देश ही नहीं पूरी दुनिया के लिए प्रेरणादायक हैं महात्मा गांधी एवं शास्त्री जी का जीवन

देश ही नहीं पूरी दुनिया के लिए प्रेरणादायक हैं महात्मा गांधी एवं शास्त्री जी का जीवन

चितौड़गढ़ / बृजेश शर्मा 

भारत तिब्बत संवाद मंच संस्था के राजस्थान क्षेत्रीय संरक्षक महंत चंद्र भारती जी महाराज ने आज महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती पर श्री हजारेश्वर महादेव मंदिर, पावटा गेट,चितौड़गढ़ स्थित आयोजित एक कार्यक्रम में शास्त्रीजी व गाँधीजी की प्रतिमा को माल्यापर्ण कर उन्हें नमन किया।उन्होंने कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि दोनों महान नेताओं का जीवन भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए प्रेरणादायक व एक मिसाल है।महात्मा गांधी ने शांति, अहिंसा,प्रेम, मानवता का सिद्धांत पूरी दुनिया को दिया। 2 अक्टूबर को विश्व अहिंसा दिवस के तौर पर मनाया जाना भारत के लिए बड़े गर्व की बात है।महात्मा गांधी के स्वदेशी को अपनाने का और विदेशी कंपनियों के उत्पादों का बहिष्कार करने का संदेश आज भी प्रासंगिक हैं और सभी को उनके दिखाए मार्ग पर चलते हुए देश व समाज की सेवा में अपना योगदान देना चाहिए।लाल बहादुर शास्त्रीने देश को जय जवान-जय किसान का नारा दिया और अपने शासनकाल में देशके प्रति निष्ठा से अपनी सेवाएं देते हुए अमिट छाप छोड़ी है।पाकिस्तान को धूल चटाकर उन्हें भारत की ताकत व मजबूती की पहचान करवाई।भारत के इन दोनों महान नेताओं ने देश का पूरी दुनिया में नाम रोशन किया।उनकी जयंती पर नमन करते हुए हमें उनके दिखाए राष्ट्रसेवा एवं राष्ट्रप्रेम के मार्ग पर चलते हुए स्वदेशी उत्पादों को अपना कर एवं घरेलू बाजार और उद्योगों को प्रोत्साहन देकर भारत के विकास में अपना योगदान देना चाहिए।
      इस मौके पर आयोजित सुंदरकांड पाठ में मुख्य अतिथि गुरुदेव श्री श्री 1008 महंत चंद्रभारती महाराज जी एवं राजस्थान क्षेत्रीय अध्यक्षा श्रीमती भारती वैष्णव जी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ।इस शुभ अवसर पर चितौड़ जिला अध्यक्षा श्रीमती गायत्री उपाध्याय जी ने नई कार्यकारिणी समिति की घोषणा की जिसमें श्री अनसूया कवर को उपाध्यक्ष,लीला चौहान-जिला प्रवक्ता, दमयंती मौनारिया-मंत्री, सरस्वती शर्मा-मीडिया प्रभारी, संगीता ओझा-उपाध्यक्ष, विमला दीक्षित-मंत्री एवं कमलेश  उपाध्याय-उपाध्यक्ष पद पर नियुक्ति की घोषणा के बाद उपस्थित सभी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं एवं नवनियुक्त पदाधिकारियो को चितौड़ प्रान्त अध्यक्षा  श्रीमती यसोदा टेलरजी ने देश के सार्व भौमत्व की रक्षा करने व इसे अक्षुण्ण रखने  हेतु संकल्प दिलाया कि हम सब आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करने के लिए स्वदेशी तथा घरेलू उत्पादनों का अपने रोजमर्रा के जीवन व्यवहार में उपयोग करेंगे और चाईना की सस्ती घटिया किस्म की चीजवस्तुओ का बहिष्कार करते हैं।इस वर्ष दीपावली पर्व पर स्वदेशी वस्तुओं का उपयोग कर स्वदेशी दिवाली मनायेंगे।इस सुंदरकांड पाठ में चितौड़गढ़ के गणमान्य नागरिक,महिला समाजिक कार्यकर्ता, उपस्थित रहे।