आमजन के खोये हुए करीब 171578/- रुपए के 10 मोबाइलों को साईबर सैल रेवाडी की पुलिस टीम ने किया ट्रेस कर मालिको को सौंपे

पुलिस अधीक्षक रेवाडी श्री राजेश कुमार ने मालिकों को सौंपे उनके मोबाइल फोन, ज्यादातर नामी ब्रांड के हैं मोबाइल फोन

आमजन के खोये हुए करीब 171578/- रुपए के 10 मोबाइलों को साईबर सैल रेवाडी की पुलिस टीम ने किया ट्रेस कर मालिको को सौंपे

मोबाइल पाकर फोन मालिकों के चेहरे पर छाई खुशी, रेवाडी पुलिस द्वारा जारी इस सराहनीय पहल की करी प्रशंसा

रेवाड़ी (हरियाणा/ जेपी पंडित) रेवाडी पुलिस की साईबर सेल टीम ने जिले में गुम हुए 10 महंगे स्मार्ट मोबाइल फोन बरामद किए हैं। इन फोन की बाजार कीमत करीब 171578/- रुपए आंकी गई है । इनमें ज्यादातर फोन नामी कंपनियों के हैं। जिनमें एक मोबाइल फोन की कीमत करीब 8 हजार रुपए से लेकर 36 हजार रुपए तक की है।
इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक रेवाडी श्री राजेश कुमार के कुशल मार्ग दर्शन में कार्य करते हुये साईबर सैल प्रभारी एएसआई अरुण कुमार एंव उनकी टीम ने माह अप्रैल व मई 2022 में करीब 171578/- रुपए की कीमत के 10 मोबाईल फोन को ट्रेस करते हुये बरामद किया है। जिन्हें एसपी रेवाडी श्री राजेश कुमार द्वारा अपने कार्यालय में बुलाकर सम्मानपूर्वक उनके मालिको को सौंपा गया है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2020 में पुलिस महानिदेशक हरियाणा के आदेशानुसार गुमशुदा मोबाईल को ढुँढकर उनके मालिकों को लौटानें हेतु विशेष अभियान की शुरुआत की गई थी। रेवाडी पुलिस की साईबर सैल ने इस अभियान के तहत वर्ष 2022 में अब तक करीब 420037/- रुपए के 28 स्मार्ट मोबाईल फोन को ढुंढकर उनके मालिकों के हवाले किए गए और इससे पहलें भी वर्ष 2021 में करीब 849347/- रुपए के 58 स्मार्ट मोबाइल फोन बरामद करके उनके मालिकों के हवाले किए गए। जब  गुम हुये मोबाईल उनके मालिको के हवाले किए गए तो मालिकों के चेहरों पर अपने फोन को पाकर खुशी की लहर दौड गई और रेवाडी पुलिस का धन्यवाद करते हुए कहा कि अपनी वस्तु से हर व्यकित को प्यार होता है। आज की इस डिजिटल दुनिया में हर व्यकित का सबसे महत्वपूर्ण उपकरण मोबाइल फोन है। आज गुम हुये मोबाइल फिर पाकर बडी खुशी मिली है। 
इस सम्बन्ध में साईबर सैल इन्चार्ज एएसआई अरुण कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि घर से बाहर जाते समय मोबाइल फोन को सम्भाल कर रखें और अगर मोबाइल गुम हो जाता है तो तुरन्त मोबाइल फोन की गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज करवाकर उसमें मौजूद सिम कार्ड को बन्द करवाएं। फिर उसके बाद मोबाइल फोन को ट्रैंसिग करवानें हेतु कार्यालय पुलिस अधीक्षक रेवाडी में सूचित करें। इसके साथ ही बताया कि गुम हुये मोबाइलो को ढुँढकर मालिको के हवाले करनें मे साईबर सैल की टीम की अहम भूमिका निभाई है।
जितने भी मोबाइल गम हुए थे उन सभी मोबाइल के मालिकों ने रेवाडी पुलिस का आभार व्यक्त किया है। रेवाडी पुलिस की कार्यशैली की प्रशंसा की है।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है