फसल खराबे की गलत सर्वे होने से किसान को नही मिली बीमा राशि, खबर प्रकाशन के बाद जागे जिम्मेदार-पुन: हुआ सर्वे

फसल खराबे की गलत सर्वे होने से किसान को नही मिली बीमा राशि, खबर प्रकाशन के बाद जागे जिम्मेदार-पुन: हुआ सर्वे
पुन: सर्वे करते अधिकारी

गजसिंहपुर (श्रीगंगानगर, राजस्थान/ फतेहसागर) गजसिंहपुर में बीमा कंपनी द्वारा खराब फसल बीमा सर्वे रिपोर्ट गलत बनाने का मामला सामने आया था किसान को हो रही समस्या को ध्यान मे रखते हुए अधिकारियों द्वारा की गई लापरवाही को लेकर ज़ी एक्स्प्रेस्स न्यूज ने फसल खराबे की गलत सर्वे होने से किसान को नही मिली बीमा राशि: पुन: सर्वे करा बीमा राशि दिलाने की मांग नामक शीर्षक से खबर चलने के बाद कृषि विभाग के अधिकारी हरकत में आने लगे हैं,  दरअसल सर्वे रिपोर्ट गलत जारी होने पर किसान का क्लेम रुक गया, इस पर किसान ने कृषि विभाग के साथ-साथ अन्य विभाग के अधिकारियों को इसकी शिकायत दर्ज करवाकर सर्वे रिपोर्ट सही करवा कर क्लेम दिलवाने की मांग की,

वही खबर चलने के बाद कृषि विभाग के अधिकारी हरकत में आए,अधिकारी अपनी गाड़ी के साथ सीमावर्ती के गांव कंवरपुरा पहुंचे और अधिकारियों ने गलत बीमा पॉलिसी पर खेत का मौका मुआयना किया, वहीं एक ही लोकेशन से तीन लोकेशन बनाकर रिपोर्ट जारी करने का मामला सामने आया, जिसमें  गलत सर्वे रिपोर्ट बनाकर भेजने की पुष्टि हुई है, इसके साथ किसान ने खाली सर्वे प्रपत्र पर किसान के हस्ताक्षर करवाने का भी आरोप लगाया, जिस पर अधिकारी सर्वे रिपोर्ट सही करने में जुटे हुए हैं, ऐसे में किसान हितैषी में प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना को सरकार के ही कुछ अधिकारी फेल करने में जुटे हैं,ऐसे अधिकारी गलत सर्वे करके न केवल विभाग को गुमराह कर रहे हैं बल्कि काश्तकारों को भी नुकसान पहुंचाने की मंशा रखी जा रही है,

बता दें कि रायसिंहनगर तहसील के गांव कंवरपुरा  के काश्तकार सीता राम बिश्नोई की फसल प्राकृतिक आपदा के चलते फसल खराब बीमा कंपनी को अपनी फसल खराब होने की जानकारी दी थी,जिस पर 10 अगस्त को बीमा कंपनी प्रधान मंत्री फसल बीमा द्वारा 18 पॉलिसी पर सर्वे करवाया गया था, वही कृषि विभाग के उपनिदेशक कृषि शक हरबंस सिंह ने बताया कि किसान सीताराम की शिकायत पर किसान के खेत की चारों लोकेशन का मौका मुआयना किया जिसमें एक ही लोकेशन से अलग अलग रिपोर्ट भेजने की खामिया पाई गई,कृषि उपनिदेशक ने रिपोर्ट सही करने की कार्रवाई चल रही और पीड़ित किसान का रुका हुआ बीमा क्लेम की समस्या को दूर की जाएगी और साथ ही इस मामले में लाहपराही बरतने वाले पर कार्रवाई भी की जाएगी।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... मौजूदा समय में डिजिटल मीडिया की उपयोगिता लगातार बढ़ रही है। आलम तो यह है कि हर कोई डिजिटल मीडिया से जुड़ा रहना चाहता है। लोग देश में हो या फिर विदेश में डिजिटल मीडिया के सहारे लोगों को बेहद कम वक्त में ताजा सूचनायें भी प्राप्त हो जाती है ★ G Express News के लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ईमानदार ना रुका ना झुका..... क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है