आम चुनाव में बूथ कैप्चर कर EVM मशीन के साथ छेड़छाड़ मामले मे मानोता की नवनिर्वाचित महिला सरपंच गिरफ्तार

आम चुनाव में बूथ कैप्चर कर EVM मशीन के साथ छेड़छाड़ मामले मे मानोता की नवनिर्वाचित महिला सरपंच गिरफ्तार

हरियाणा: नूंह जिले के पुन्हाना थाने के गांव मानौता में गत 2 नवंबर को हुए आम चुनाव में बूथ कैप्चर कर ईवीएम लूटने के आरोप में गिरफ्तार कर नवनिर्वाचित रासीदा सरपंच को जेल भेज दिया गया है। गत 2 नवंबर को बूथ कैप्चर हो जाने के चलते मतदान रद्द करने के बाद 4 नवंबर को भारी सुरक्षा के बीच मानौता ग्राम पंचायत में उप चुनाव कराया गया। उप चुनाव में रासीदा ने 930 मत लेकर अपने निकटम प्रतिद्वंदी इमराना को 160 मत से हराकर जीत दर्ज की थी। पुलिस कप्तान नूंह वरुण सिंगला ने कहा कि मामले की तुरंत ही जांच शुरू कर दी गई थी। जांच में 2 दिन पहले गांव की सरपंच पर कार्रवाई करते हुए 6 नवंबर में पेश कर जेल भेज दिया गया। मामले में अन्य आरोपियों की भी जल्द गिरफ्तारी की जाएगी।

वरुण सिंगला एसपी नूंह पत्रकारों के बताया कि मानौता गांव के बूथ नंबर 77- 78 के प्रेजाइंडिंग ऑफिसर ने बूथ मामले में संलिप्तता पाई गई। जिस पर उपद्रवी भीड़ द्वारा बूथ कैप्चर कर ईवीएम लूट की घटना को अंजाम दिया गया। गत 2 नवंबर को मानौता गांव में ईवीएम मशीन नहीं मिलने के चलते चुनावी नतीजे घोषित नहीं किए गए थे। पूरे जिले में अकेला यही ऐसा गांव था, जहां 2 बूथों पर दोबारा मतदान कराया गया। तब कहीं जाकर चुनावी नतीजे गत 4 नवंबर को सुनाए गए। मानौता की नवनिर्वाचित महिला सरपंच रासीदा को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। पुलिस मामले में नामजद अन्य आरोपियों की तलाश तेज कर दी है। पुलिस कप्तान ने साफ कहा कि किसी भी झगड़े करने वाले शख्स को बख्शा नहीं जाएगा।

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... मौजूदा समय में डिजिटल मीडिया की उपयोगिता लगातार बढ़ रही है। आलम तो यह है कि हर कोई डिजिटल मीडिया से जुड़ा रहना चाहता है। लोग देश में हो या फिर विदेश में डिजिटल मीडिया के सहारे लोगों को बेहद कम वक्त में ताजा सूचनायें भी प्राप्त हो जाती है ★ G Express News के लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ईमानदार ना रुका ना झुका..... क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है